रायगढ़

--Advertisement--

सवारी गाड़ी रद्द कर रेलवे ने भेजा 40 रैक कोयला

कोरबा | दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर डिवीजन ने चांपा-जांजगीर के बीच पुल मरम्मत के नाम पर यहां से चलने वाली 3...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:00 AM IST
कोरबा | दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर डिवीजन ने चांपा-जांजगीर के बीच पुल मरम्मत के नाम पर यहां से चलने वाली 3 जोड़ी सवारी गाड़ियों काे 46 दिन के लिए रद्द कर दिया था। इस घोषणा के बाद कोरबा के लोगों में आक्रोश पनपने लगा था। ट्रेन में सफर करने वालों की परेशानी तो बढ़ी पर रेलवे ने अपना कोष जरूर भरने में सफल रहा।

15 अप्रैल से अब तक प्रति 24 घंटे 39 से 40 रैक कोयला डिस्पेच करने में सफल रहा। जबकि समान्य दिन में 36-37 रैक कोयला कोयला बाहर भेजा जा रहा था। आंदोलन की चेतावनी से सहमा रेल प्रशासन 10वें दिन एक को 16वें दिन दूसरी रद्द ट्रेन का परिचालन शुरू कर दिया है। यात्री ट्रेनों का फेरा रोक कर विभाग कहीं से भी नुकसान में नहीं रहा। उल्टा अधिक कमाई कर लिया है। समान्य में जहां कोल डिस्पेच 36-37 था वह इन दिनों 39-40 रहा। यात्री ट्रेनों को नहीं चलाकर भी रेलवे ने लाभ कमाने पीछे नहीं रहा। एक दिन म यात्री भाड़ा से रेलवे को 18 लाख के करीब मिलता है। एक रैक कोयला बाहर भेजने से रेलवे कोष में 2 से ढाई करोड़ रुपए तक जमा होता है। रेल प्रशासन 15 दिन में प्रति 24 घंटे 3 से 4 रैक कोयला अधिक भेज कर कितना जुटा लिए हैं। एआरएम आदित्य गुप्ता ही नहीं कुछ दिन पहले यहां आए डीआरएम आर राजगोपाल ने तो 35-36 रैक ही भेजने की बात कह गए थे।

X
Click to listen..