• Home
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • प्रतिभावान दिव्यांग बालिका सरस्वती बाई ने दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय बालश्री सम्मान में दर्शकों को मोहा
--Advertisement--

प्रतिभावान दिव्यांग बालिका सरस्वती बाई ने दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय बालश्री सम्मान में दर्शकों को मोहा

प्रतिभावान दिव्यांग बालिका सरस्वती बाई ने अपने मधुर स्वर से देश की राजधानी दिल्ली में हुए राष्ट्रीय बालश्री...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 02:20 AM IST
प्रतिभावान दिव्यांग बालिका सरस्वती बाई ने अपने मधुर स्वर से देश की राजधानी दिल्ली में हुए राष्ट्रीय बालश्री सम्मान में दर्शकों को झूमने के लिए विवश कर दिया। इस प्रतियोगिता में इस बाल लोक गायिका ने 5 हजार रुपए का सात्वनां पुरस्कार मिला। शहर के विशेष विद्यालय में पांचवीं कक्षा की छात्रा सरस्वती बाई ने गुरूवार को नगर पालिका उपाध्यक्ष श्रीमती प्रियम्वदा सिंह जूदेव से मुलाकात की। इस दौरान सरस्वती की मधुर स्वर में गीत सुन कर श्रीमती जूदेव भी मंत्र मुग्ध हो गई। दिव्यांग बालिका सरस्वती बाई दिल्ली में प्रस्तुति देने से पहले जिला स्तर में अपने मधुर आवाज बिखेर कर विजेता बनी थी। इसके बाद उसे झारखंड के बोकारो में आयोजित अंतरराज्यीय प्रतियोगिता में प्रतिभागियों से जूझना पड़ा। यहां जशपुर के लोक गीत की मधुर प्रस्तुति के बल पर सरस्वती ने राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में स्थान तय किया था। दिल्ली में सरस्वती ने खुशियों का दिन आया है,जो मांगा वो पाया है गीत की प्रस्तुति दी। दिव्यांग बालिका के इस गीत को कार्यक्रम में उपस्थित अतिथि व दर्शकों ने जमकर सराहा। प्रतियोगिता में रनर अप के रूप में 5 हजार रुपए और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में शामिल होकर लौटी सरस्वती अपने पिता चंद्रनाथ राम और मानपति देवी के साथ पालिका उपाध्यक्ष प्रियंवदा सिंह जूदेव से मिलने पहुंची।

दिल्ली में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर लौटी दिव्यांग सरस्वती।