• Home
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • एकलव्य विद्यालय की 10 छात्राओं ने जेईई मेंस दिलाया, 9 का हो गया चयन
--Advertisement--

एकलव्य विद्यालय की 10 छात्राओं ने जेईई मेंस दिलाया, 9 का हो गया चयन

जिले के सन्ना क्षेत्र में स्थापित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय पूर्णतः आवासीय संस्था है। संस्था की 10 छात्राएं...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 02:50 AM IST
जिले के सन्ना क्षेत्र में स्थापित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय पूर्णतः आवासीय संस्था है। संस्था की 10 छात्राएं जेईई की परीक्षा में सम्मिलित हुई। इसमें 9 छात्राओं का चयन जेईई मेंस की परीक्षा में हुआ है।

विद्यालय में प्रवेशित छात्राओं को छात्रावास में निशुल्क आवास एवं शिष्यवृत्ति की राशि में से भोजन की व्यवस्था की जाती है। विद्यालय में कंप्यूटर/ विज्ञान लैब एवं पुस्तकालय के साथ-साथ प्रतिभावान खिलाडी छात्राओं हेतु क्रीड़ा सामग्री एवं प्रशिक्षित व्यायाम अनुदेशकों की सुविधा भी उपलब्ध है। संस्था पूरे साल भर शैक्षणिक कार्य के अलावा अतिरिक्त कक्षाएं लगाकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कराई गई थी। इस का परिणाम यह रहा कि 10 में से 9 छात्राओं का चयन जेईई मेंस में हुआ। चयनित छात्राओं में नताशा पैकरा, भारती पैकरा, प्रियंका खेस्स, झरोखा पैकरा, करिश्मा पैकरा, समिता लकड़ा, विद्या तिर्की, प्रीति पैकरा एवं चंचल पैकरा है। जेईई मेन्स में चयनित सभी बच्चे आदिवासी एवं गरीब किसान परिवार के हैं।

फरसाबहार ब्लॉक के 25 विद्यार्थियों में 5 का चयन

अंकिरा |
विकासखंड फरसाबहार से 5 स्कूली बच्चों का जेईई मेंस में चयन हुआ है। परीक्षा में 25 बच्चे शामिल हुए थे,जिसमें से हायरसेकंडरी स्कूल तपकरा से किरण सिहं, कुलदीप पैकरा तथा लवाकेरा जसविन तिग्गा, नेहरूलाल राम एवं नितिन तिर्की का चयन हुआ है।

रसोइया का बेटा बना जिले का दूसरे नंबर का टॉपर

बरजोर के 4 बच्चों ने जेईई मेंस में क्वालीफाई किया

भास्कर न्यूज | डूमरबहार

मंगलवार का दिन जिले के लिए यादगार दिन रहा, होगा भी क्यों नहीं क्योंकि इस वर्ष बारहवीं में अध्ययनरत 116 बच्चों ने जेईई मेंस की परीक्षा दी थी जिनमें 64 बच्चों ने क्वालीफाई कर लिया। जिले के कांसाबेल ब्लॉक के शासकीय उमावि बरजोर के 4 बच्चों बाल मकुन्द पैंकरा पिता नकुल राम, ग्राम बरजोर, बालकृष्ण यादव पिता अवधेश यादव, ग्राम टांगरगाँव, टिकेंद्र सिंह पिता रमेश सिंह, ग्राम लपई तथा ओंकार सिंह पैंकरा पिता कुंवरजीत सिंह, ग्राम जमरगी बी ने क्रमशः90,51,45,25 नंबर लाकर जेईई मेंस में क्वालीफाई करके अपनी काबिलियत का झंडा गाड़ दिया है।

संकल्प कोचिंग संस्थान की बात छोड़ दें तो प्राथमिक शाला बरजोर में रसोईया का काम करने वाले नकुल राम के बेटे बाल मकुन्द पैंकरा ने 90 अंक लाकर जिले में सर्वोच्च स्थान पर है। ब्लॉक के बाकी अन्य सभी बच्चे कृषक परिवार के हैं। बिलकुल सिमित संसाधनों एवं ग्रामीण परिवेश के बीच इन बच्चों ने जो कारनामा किया है वो वाकई काबिले तारीफ है। मंगलवार को सभी बच्चों का ध्यान जेईई मेन्स के निकलने वाले रिजल्ट पर था जैसे ही रिजल्ट की घोषणा की गई जिले के चयनित सभी बच्चों के चेहरे पर सफलता की मुस्कान झलक स्पष्ट देखने को मिली। आज हायर सेकंडरी स्कूल बरजोर के प्रभारी प्रचार्य एसएस पैंकरा एवं मोटिवेट करने वाले पंचायत संवर्ग के शिक्षक नेमचंद छत्तर, दयाशंकर बेहरा तथा प्रेमशंकर यादव के नेतृत्व में जिले के सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित बरजोर स्कुल से 4 बच्चों ने सफलता प्राप्त कर इस विद्यालय एवं गाँव का नाम रोशन किया है। संस्था के प्रभारी प्राचार्य एसएस पैंकरा ने चयनित चारों बच्चों के साथ-साथ संस्था के सभी स्टाफ एवं विशेषकर नेमचंद छत्तर, दयाशंकर बेहरा तथा प्रेमशंकर यादव को बधाई दिया है जिनके सफल मार्गदर्शन की बदौलत आज ये बच्चे कामयाब हुए हैं। चयनित सभी बच्चों को जेईई एडवांस की तैयारी के लिए संकल्प संस्थान भेजने की कार्यवाही की जा रही है।

कांसाबेल बीईओ आरएस पैंकरा ने जेईई मेन्स में चयनित सभी बच्चों को बधाई देते हुए इनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।

बाल मकुन्द पैंकरा

जेईई एडवांस के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस शुरू

जशपुर नगर | जेईई मेन्स क्वालिफाई करने वालों के लिए अब अगला मौका जेईई एडवांस का है। इसकी ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 2 मई से शुरू होगी। यह प्रवेश परीक्षा देशभर में 20 मई को आयोजित की जाएगी। इसके लिए स्टूडेंट्स जेईई एडवांस की वेबसाइट www.jeeadv.ac.in पर रजिस्टर करेंगे। आईआईटी की करीब 12 हजार सीटों के लिए देश के जेईई मेन क्वालिफाई करने वाले टॉप 2 लाख 31 हजार स्टूडेंट्स ऑनलाइन आवेदन करेंगे। ऑनलाइन आवेदन 2 से 7 मई तक होंगे। 8 मई तक जेईई एडवांस की फीस जमा की जा सकेगी। 14 मई से 20 मई के बीच एडमिट कार्ड वेबसाइट पर उपलब्ध हो जाएंगे। जबकि, परीक्षा 20 मई को आयोजित की जाएगी।

आईआईटी के अलावा राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी बरेली, इंडियन इंस्टीट्यूट आफ साइंस एजूकेशन एंड रिसर्च, इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी तिरुवनंतपुरम भी जेईई एडवांस के परिणाम से ही प्रवेश देंगे। वे स्टूडेंट्स जो जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाए हैं, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। सीबीएसई ने इस साल भी सभी परीक्षार्थियों की कॉमन रैंक लिस्ट (सीआरएल) जारी की है। इसके तहत उन्हें एक ही रैंक से आईआईटी या दूसरे संस्थानों में जाने का मौका मिलेगा। चयनित नहीं हो पाने वालों को सीआरएल के आधार पर कॉमन काउंसिलिंग में बैठना होगा। उनके पास आईआईटी से अलग 31 एनआईटी, 17 ट्रिपल आईटी, 17 जीएफआईटी सहित तमाम तकनीकी शैक्षणिक संस्थानों में दाखिले का मौका है। जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई नहीं होने वाले युवाओं के लिए भी ऑल इंडिया रैंक जारी हुई है।

जेईई एडवांस का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए स्टूडेंट्स को 10वीं के सर्टिफिकेट की स्कैन कॉपी, जेपीईजी फॉर्मेट सिग्नेचर में, परीक्षा केंद्र, जाति प्रमाण पत्र की स्कैन कॉपी भी जरूरी होगी। पहली बार यह परीक्षा ऑनलाइन होने जा रही है। जेईई मेन ऑनलाइन एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स के लिए राह आसान होगी। जेईई ऑफलाइन देने वालों को ऑनलाइन मोड में जुटकर तैयारी करनी होगी। एडवांस का परिणाम 10 जून को सुबह 10 बजे आएगा।