Hindi News »Chhatisgarh »Raigarh» महिला समूहों से बोले पीएम-सशक्तीकरण के लिए आर्थिक स्थिति मजबूत होना जरूरी

महिला समूहों से बोले पीएम-सशक्तीकरण के लिए आर्थिक स्थिति मजबूत होना जरूरी

पीएम नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को सुबह साढ़े 9 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 03:10 AM IST

महिला समूहों से बोले पीएम-सशक्तीकरण के लिए आर्थिक स्थिति मजबूत होना जरूरी
पीएम नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को सुबह साढ़े 9 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह की सदस्यों के साथ सीधे संवाद किया। पीएम मोदी ने कहा कि महिला सशक्तिकरण का मतलब है उन्हें समान अवसर देना। देश की महिलाओं में सामर्थ्य है और सफलता के लिए कुछ कर गुजरने की ताकत भी है। वे परिवार, समाज और देश का ख्याल रखती हैं और अच्छे से टाइम मैनेजमेंट करती हैं।

रायगढ़ में जिला मुख्यालय समेत 50 जगहों पर पीएम की संवाद सुनाने की व्यवस्था जिला पंचायत की ओर से की गई थी। इसमें करीब 14 सौ महिलाएं शामिल हुईं। प्रधानमंत्री ने छत्तीसगढ़ के नांदगांव जिले की महिलाओं से पूछा कि समूह में कितने सदस्य हैं। समूह द्वारा क्या क्या काम किए जा रहे हैं? समूह में जुड़ने के बाद उनके जीवन में क्या अंतर आया? इस पर महिलाओं ने बताया कि वे स्व सहायता समूह के जरिए खेती किसानी का काम कर रहे हैं और फंड जमा कर समूह के सदस्यों को जरूरत पड़ने पर राशि कम ब्याज में आवंटित की जा रही है। पीएम मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के 22 जिलों में 122 बिहान बाजार आउटलेट बनाए गए हैं जहां स्वयं सहायता समूहों के 200 वैरायटी के प्रोडक्ट बेचे जाते हैं। महिलाओं की आर्थिक आत्मनिर्भरता उन्हें समाज की बुराइयों से लड़ने की शक्ति देती है। उन्होंने कहा कि दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत देश भर की 2.5 लाख ग्राम पंचायतों में करोड़ों ग्रामीण गरीब परिवारों तक पहुंचने का, उन्हें स्थायी आजीविका के अवसर उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।

इस संवाद में कौशल विकास के तहत प्रशिक्षण लेने वाले बेरोजगार भी शामिल हुए थे। जिनसे पीएम ने कहा कि दीनदयाल अंत्योदय योजना के तहत ग्रामीण युवाओं के कौशल विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। युवाओं को रोजगार और स्व-रोजगार, दोनों के लिए ट्रेनिंग दी जा रही है ताकि देश के युवा अपनी आशा-आकांक्षा के अनुरूप आगे बढ़ सकें। संवाद द्वारा उन्होंने यह भी बताया कि इस योजना को सभी राज्यों में शुरू किया जा चुका है।

छग में नांदगांव की महिलाओं से पूछा क्या कर रही हैं? क्या बदलाव आया आपके जीवन में

जिला पंचायत के सभाकक्ष में पीएम के संवाद सुनते स्वयं सहायता समूह की महिलाएं।

एग्रीकल्चर व डेयरी में महिलाओं के योगदान बिना कल्पना नहीं

पीएम ने कहा कि आज आप किसी भी सेक्टर को देखें तो आपको वहां पर महिलाएं बड़ी संख्या में काम करती हुए दिखेंगी। उन्होंने कहा कि देश के एग्रीकल्चर सेक्टर और डेयरी सेक्टर की तो महिलाओं के योगदान के बिना कल्पना ही नहीं की जा सकती। महिला के सशक्तिकरण के लिए जरूरी है कि वो आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हों। महिलाओं का आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना हर निर्णय की भागीदारी बढ़ाने के लिए एक बहुत बड़ा कारण बनता है। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की जब हम बात करते हैं तो सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता होती है।

इन जगहों पर पीएम संवाद सुनाने की गई थी व्यवस्था

प्रधानमंत्री मोदी का सीधे संवाद सुनाने के लिए जिला पंचायत की ओर से जिला मुख्यालय, ब्लॉक और पंचायत स्तर में 50 जगहों पर व्यवस्था की गई थी। इसमें रायगढ़ के एनआईसी व पीटीसी केंद्र, बरमकेला के लोधिया, बोरे, खिचरी, करनपाली और धनीगांव पंचायत के लोक सेवा केंद्र, सारंगढ़ के 5, पुसौर के 5, रायगढ़ के 11, खरसिया के 5, घरघोड़ा के 5, तमनार के 4, लैलूंगा के भर्कुरा और धरमजयगढ़ के 5 जगहों पर महिला स्व सहायता समूह की सदस्य पीएम का संवाद सुनने पहुंची थी।

जिले भर में 945 स्व सहायता समूह में 5 हजार महिलाएं जुड़ी

दीनदयाल अंत्योदय योजना और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत जिले में 945 महिला स्व सहायता समूह काम कर रही हैं। इन समूह में करीब 5 हजार महिलाएं जुड़ी है। जिनके बाद शासन की योजना के तहत बैंकों से लोन लेकर रेडी टू ईट, पापड़ जैसे करीब डेढ़ सौ प्रोडक्ट स्वयं से बनाकर आत्मनिर्भर बन रही हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Raigarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×