• Home
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • कलेक्टर से कहा- कर्ज लेकर बनाया है शौचालय, भुगतान करवाई दीजिए
--Advertisement--

कलेक्टर से कहा- कर्ज लेकर बनाया है शौचालय, भुगतान करवाई दीजिए

नगर निगम के इंजीनियरों व अफसरों ने स्वच्छ भारत अभियान में बनाए गए शौचालय का भुगतान ठेकेदारों को आंख मूंद कर दिया,...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:10 AM IST
नगर निगम के इंजीनियरों व अफसरों ने स्वच्छ भारत अभियान में बनाए गए शौचालय का भुगतान ठेकेदारों को आंख मूंद कर दिया, वहीं जिन्होंने स्वयं से टायलेट बनवाया है। उन्हें अब भुगतान के लिए निगम के चक्कर कटवा रहे हैं।

ऐसे ही एक महिला ने कलेक्टर से शिकायत करते हुए कहा है कि अफसरों व निगम दफ्तर के चक्कर काट काट कर थक चुकी हूं, कर्ज लेकर टायलेट बनवाया है। आर्थिक परेशानी से जूझ रही है। इसलिए भुगतान दिलवाने की मांग करते हुए कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। निगम के 48 वार्डों में करीब साढ़े 6 हजार टायलेट का निर्माण करवाया गया है। इसके लिए ठेकेदारों को निगम की ओर से 10 करोड़ रुपए का भुगतान बिना वेरिफिकेशन के कर दिया गया। वहीं जिन्होंने खुद से बनाया है उन्हें अब भुगतान के लिए दर दर की ठोकरे खानी पड़ रही है। दरअसल, स्वच्छ भारत अभियान के तहत निगम के द्वारा हितग्राहियों के यहां शौचालय निर्माण करवाया जाना था। वहीं दूसरा हितग्राही यदि चाहे तो स्वयं शौचालय का निर्माण करा सकता है। इसमें किश्तों में राशि जारी किए जाने का प्रावधान है। शहर में लगातार टायलेट निर्माण में हो रही गड़बड़ी व शिकायत को देखते हुए वार्ड क्रमांक 21 की निवासी हेमलता राठौर के द्वारा स्वयं शौचालय निर्माण करने की इच्छा जाहिर की और निगम में आवेदन किया गया। स्वयं से निर्माण करने की स्वीकृति निगम की ओर से दी गई।