• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • रेलवे फाटक पर Rs.82 करोड़ से बनेगा ओवरब्रिज, हाइवे पर नहीं लगेगा जाम
--Advertisement--

रेलवे फाटक पर Rs.82 करोड़ से बनेगा ओवरब्रिज, हाइवे पर नहीं लगेगा जाम

कोतरा रोड रेलवे फाटक में ओवरब्रिज निर्माण के लिए 82 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। वाई आकार में प्रस्तावित ओवरब्रिज...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:15 AM IST
रेलवे फाटक पर Rs.82 करोड़ से बनेगा ओवरब्रिज, हाइवे पर नहीं लगेगा जाम
कोतरा रोड रेलवे फाटक में ओवरब्रिज निर्माण के लिए 82 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। वाई आकार में प्रस्तावित ओवरब्रिज के बनने में करीब दो साल का समय लगेगा। ओवरब्रिज बनने से कोतरा रोड फाटक पर लगने वाले जाम से छुटकारा मिलेगा। ये फाटक नेशनल हाइवे पर पड़ता है जिससे दिनभर भारी और छोटे वाहनों का आना-जाना लगा रहता है। शहर की बिगड़ी यातायात व्यवस्था में सुधार होगा। सेतु निगम और रेलवे दोनों ही इस प्रोजेक्ट पर काम करेंगे। इसके लिए 1 फरवरी को ही केंद्रीय बजट में ब्रिज शामिल हो गया था लेकिन अधिकृत पत्र नहीं मिलने से विभाग कार्रवाई नहीं कर रहा था। अब चूंकि पत्र आ चुका है तो सेतु निगम और रेलवे अफसरों ने जीएडी की कार्रवाई शुरू कर दी। इससे निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। हालांकि चक्रधर नगर में बनने वाली आरओबी के लिए वित्तीय स्वीकृति नहीं मिली है।

वर्तमान में फाटक बंद होने से लग जाती है ट्रकों की लंबी लाइन

फाटक बंद होने से कोतरा रोड पर गेट के सामने लगी वाहन चालकों की भीड़।

रेलवे ने ड्राइंग-डिजाइन के लिए कार्रवाई शुरू की

सेतु निगम एसडीओ एएल बरेठ ने बताया रेलवे ब्रिज चीफ इंजीनियर ने विभिन्न कार्यों की बजट स्वीकृति संबंधी पत्र अप्रैल के पहले सप्ताह में जारी किया है। केंद्रीय बजट के बाद से ही स्वीकृति की चर्चा थी लेकिन लिखित रूप से स्वीकृति की जानकारी नहीं आने के कारण असमंजस था। रेलवे की तरफ से पत्र के इंतजार में काम को गति नहीं मिल रही थी लेकिन अब कोई दिक्कत नहीं होगी। ड्राइंग स्वीकृति के लिए डिविजनल कार्यालय भेजी है। जैसे ही जीएडी साइन होगी। सेतु निगम द्वारा रेलवे के हिस्से को छोड़कर दोनों साइडों का काम शुरू कर दिया जाएगा। रेलवे अपने हिस्से का काम बाद में करेगा।

मुआवजा रिपोर्ट के लिए इंतजार

कोतरा रोड की रेलवे फाटक की जगह जहां ब्रिज बनना है, वहां दोनों तरफ करीब 10 निर्माण प्रभावित हो रहे हैं। पीडब्ल्यूडी ने इन प्रभावितों का प्रारंभिक सर्वे कर गाइड लाइन अनुसार मुआवजा देने के लिए निर्धारित किया था। अब फाइनल जीएडी मिलने के बाद ही एसडीएम द्वारा मुआवजा अधिसूचना जारी की जा सकेगी। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि जीएडी में संशोधन हुआ तो उस अनुसार प्रभावित निर्माण की नपाई होगी। फिर प्रभावितों के स्वामित्व दस्तावेज अनुसार देखा जाएगा कि कितना निर्माण विधिवत है और कितना अतिक्रमण है।

ऐसे बनेगी आरओबी

कोतरा रोड में बनने वाली आरओबी रेलवे ट्रैक के बीच से 12-12 मीटर स्ट्रेट फिर 80-80 मीटर सीधा रोड और इसके अलावा दोनों ओर 160-160 मीटर का ढलान रहेगा इसके बाद ढलान सड़क से जुड़ेगा। इसका आकार वाइ सेफ में होगा। ब्रिज का पहला छोर कोतरा रोड पुलिस थाना और दूसरा छोर कोसमनारा में होगा।

X
रेलवे फाटक पर Rs.82 करोड़ से बनेगा ओवरब्रिज, हाइवे पर नहीं लगेगा जाम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..