Hindi News »Chhatisgarh »Raigarh» कांग्रेस ने 5 मांगों का ज्ञापन सौंपा और पीड़ितों को 10 लाख व हाथियों से बचने मिर्च मसाला देने कहा

कांग्रेस ने 5 मांगों का ज्ञापन सौंपा और पीड़ितों को 10 लाख व हाथियों से बचने मिर्च मसाला देने कहा

धरमजयगढ़ में एक ही परिवार के चार परिवार के लोगों को हाथियों के दल द्वारा कुचल देने की घटना के बाद धरमजयगढ़ ब्लॉक...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:20 AM IST

कांग्रेस ने 5 मांगों का ज्ञापन सौंपा और पीड़ितों को 10 लाख व हाथियों से बचने मिर्च मसाला देने कहा
धरमजयगढ़ में एक ही परिवार के चार परिवार के लोगों को हाथियों के दल द्वारा कुचल देने की घटना के बाद धरमजयगढ़ ब्लॉक कांग्रेस ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर वनविभाग को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन के साथ अधिकारियों को यह भी कहा कि यदि उनकी मांगे जल्द पूरी नहीं हुई तो वे उग्र आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

शनिवार को धरमजयगढ़ के कोइलार गांव में जंगल चार फल बीनने गए परिवार के चार सदस्यों को हाथी ने पटक-पटककर मार डाला था। जंगल से लाश निकालने में विभाग को दो दिन लग गए थे। इसी के विरोध में खरसिया सड़क को भी जाम किया गया था। सोमवार को ब्लॉक कांग्रेस धरमजयगढ़ ने पांच सूत्रीय मांग को लेकर वनविभाग को ज्ञापन सौंपा। 5 सूत्रीय मांगों में पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की गई है। धरमजयगढ़ कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष मनदीप सिंह कोमल के नेतृत्व में वनविभाग के विरुद्ध सड़क पर रैली निकालकर नारेबाजी की। इसके बाद रैली वनविभाग कार्यालय पहुंची और घेराव करते हुए पांच सूत्रीय मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा । ज्ञापन सौंपने के बाद कांग्रेसियों ने 15 दिनों का अल्टीमेटम भी दिया है। यदि 15 दिनों के अंदर उनकी मांगे पूरी नहीं होती है तो उनके द्वारा उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई है। पांच सूत्रीय मांगों में प्रमुख रूप से पीड़ित परिवार को 10 लाख मुआवजा राशि देने ,हाथी कॉरिडोर का जल्द निर्माण करने ,हाथी प्रभावित इलाकों में रक्षा के लिए ग्रामीणों को मिर्ची मशाल ,पटाखे ,टार्च आदि उपलब्ध कराने का की बात है। विरोध कार्यक्रम में धरमजयगढ़ ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मनदीप सिंह कोमल, युसुफ छाया कन्याकुमारी राठिया मौजूद थे।

ज्ञापन सौंपने जाते कांग्रेसी।

एक दिन पहले सीसीएफ ने भी दौरा किया गांव का

एक दिन पहले ही सीसीएफ ने दौरा कर ग्रामीणों से बात की थी। यहां पर ग्रामीणों ने सीसीएफ से हाथी को मारने की मांग की थी। हालांकि सीसीएफ ने उन्हें आदिवासी और वन्यप्राणी दोनों को जंगल से नहीं निकाले जा सकने की बात कही।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Raigarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×