• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • जेल नियमों की परवाह किए बिना रिटायर्ड आईएसएस भाई से मिलने जशपुर जेल पहुंचीं महिला आईएएस
--Advertisement--

जेल नियमों की परवाह किए बिना रिटायर्ड आईएसएस भाई से मिलने जशपुर जेल पहुंचीं महिला आईएएस

रायगढ़ | 22 अप्रैल को जशपुर जिले के बच्छरांव में हुए पत्थलगड़ी के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जोसेफ तिग्गा और...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:25 AM IST
रायगढ़ | 22 अप्रैल को जशपुर जिले के बच्छरांव में हुए पत्थलगड़ी के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जोसेफ तिग्गा और रिटायर्ड आईएएस हरमन किंडो को पुलिस ने गिरफ्तारकर जशपुर जेल में 15 दिनों के लिए रिमांड पर भेजा है। जेल जाने के बाद एचपी किंडो की बहन व महिला आईएएस जिलेनिया किंडो ने जेल नियमों के बिना परवाह किए ही भाई से मिलने जेल पहुंच गई। आईएसएस अधिकारी हाेने का हवाला देते हुए और जशपुर एसडीएम द्वारा जेल अफसर पर दबाव बनाते हुए जेल के कार्यालय तक गईं।

मिली जानकारी के अनुसार जिलेनिया किंडो स्पेशल सेक्रेटरी रैंक की आईएएस हैं और वर्तमान में राज्य निर्वाचन आयोग में सचिव हैं। उनके भाई एचपी किंडो को जशपुर पुलिस ने पत्थलगड़ी मामले में लोगों को भड़काने के आरोप में गिरफ्तार कर कुनकुरी कोर्ट में पेश किया। जहां कोर्ट ने किंडो को 14 दिन के लिए जेल भेज दिया। भाई की जमानत कराने महिला आईएएस जशपुर पहुंची। उन्होंने जले में अपने भाई से मिलने के लिए न केवल जेल अफसर पर दबाव बनाया बल्कि जशपुर एसडीएम द्वारा भी फोन कराया गया। जहां दोनों के बीच 20 मिनट मुलाकात हुई। शाम 6.20 बजे जेनेलियो किंडो जेल में दाखिल हुई और 6.50 मिनट तक रही। इस संबंध में जेलर आरएस सिंह ने बताया कि चूंकि महिला आईएसएस हैं और एसडीएम के फोन करने पर उन्हें कार्यालय तक आने दिया गया। जहां पर अपने भाई के लिए लाए कपड़े और अन्य समानों को लिया गया। इस दौरान भाई से मिलने नहीं दिया गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..