• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • सारंगढ़ सरायपाली एनएच को मंजूरी नहीं, सारंगढ़ बसना सड़क बनेगी फोरलेन
--Advertisement--

सारंगढ़-सरायपाली एनएच को मंजूरी नहीं, सारंगढ़-बसना सड़क बनेगी फोरलेन

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:25 AM IST

Raigarh News - सर्वे करने वाली टीम के सदस्यों ने बताया कि भारत माला परियोजना के तहत पहले सराईपाली से मानिकपुर सारंगढ़ तक 35.5...

सारंगढ़-सरायपाली एनएच को मंजूरी नहीं, सारंगढ़-बसना सड़क बनेगी फोरलेन
सर्वे करने वाली टीम के सदस्यों ने बताया कि भारत माला परियोजना के तहत पहले सराईपाली से मानिकपुर सारंगढ़ तक 35.5 किलोमीटर सड़क बनने का प्रस्ताव तैयार किया गया था, लेकिन संरक्षित वन क्षेत्र गोमर्डा अभयारण्य क्षेत्र में सड़क चौड़ीकरण के लिए वन विभाग की जमीन की आवश्यकता पड़ रही थी। वन विभाग से अनुमति नहीं मिल पाई, जिसके चलते नए प्रस्ताव के आधार पर नई सड़क के लिए सर्वे तैयार किया जा रहा है सर्वे के बाद प्रस्ताव लोक निर्माण विभाग को सौंप दिया जाएगा। डीआरपी शासन को स्वीकृत के लिए भेज दिया जाएगा सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो बसना सारंगढ़ नयी सड़क क्षेत्र वासियों को जल्द मिल जाएगी तथा यह सड़क फोरलेन होगी।

नए मास्टर प्लान के अनुसार सड़क बनने पर सारंगढ़ से बसना की दूरी रह जाएगी मात्र 35 किलोमीटर, रायपुर से रायगढ़ जाने वाले भारी वाहन सारंगढ़ शहर के अंदर से नहीं गुजरेंगे

गोमर्डा अभयारण्य के कारण बदला प्लान।

भास्कर न्यूज | रायगढ़/ दानसरा

भारत माला परियोजना में सरायपाली से सारंगढ़ को जोड़ने का प्रस्ताव मंजूरी नहीं मिलने से पीडब्ल्यूडी ने बसना से सारंगढ़ के लिए नया सड़क मार्ग का मास्टर प्लान तैयार किया है। इस प्रस्ताव में सारंगढ़ से बसना की दूरी महज 35 किलोमीटर रह जाएगी। चंदाई से हरदी को जोड़ते हुए बायपास मार्ग का निर्माण भी प्रस्ताव में शामिल है। रायगढ़ जाने के लिए इस बाइपास के बन जाने के बाद सारंगढ़ घुसने की आवश्यकता नहीं होगी।

रायगढ़ से सरायपाली राष्ट्रीय राजमार्ग को भारत माला परियोजना के तहत चौड़ीकरण के साथ डामरीकरण किए जाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था, लेकिन इसके बीच में गोमर्डा अभयारण्य पड़ने के कारण वन विभाग से एनओसी नहीं दिया गया। सड़क निर्माण में देरी होने के कारण प्रस्ताव टालते हुए सारंगढ़ के लिए सड़क का नया प्रस्ताव तैयार किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार नई सड़क लोक निर्माण विभाग द्वारा भंवरपुर-बसना मार्ग में भंवरपुर से पहले कुंती नाला से बाईपास संतपाली, हरदी, अमोदी, पहंदा, छीन होते हुए चंदाई, गुढ़ियारी, पचपेड़ी, सलोनी, हरदी जाने वाली सड़क की डीपीआर बनाने का काम तेजी से करवाया जा रहा है। ड्रोन कैमरा एवं सेटेलाइट द्वारा सर्वे का कार्य लगभग पूरा हो चुका है तथा मार्ग का चिह्नांकित भी किया जा चुका है। भंवरपुर-सागरपाली को छोड़कर त्रिभुजाकार काटते हुए बसना को सरसिवा के लिए नई सड़क मिल जाएगी। इस नई सड़क से सारंगढ़ से राजधानी के लिए 20 किलोमीटर की दूरी कम हो जाएगी।

सर्वे के बाद पीडब्ल्यूडी को सौंपा जाएगा प्रस्ताव

प्रदेश की सात सड़क राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित

केंद्र सरकार ने राजपत्र में अधिसूचना जारी की है। इसके तहत सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने प्रदेश की 7 सड़कों को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित कर दिया है। इसमें राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 130 नेहरू चौक से मुंगेली, पंडरिया से होते हुए पोंडी राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 से जुड़ जाएगी। इस नए राष्ट्रीय राजमार्ग को 130 नाम दिया गया है। इस तरह जिले की यह प्रमुख सड़क केंद्र सरकार के अधीन हो जाएगी। राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित होने के कारण भविष्य में इस सड़क को बनाने का मापदंड भी बदल जाएगा। सड़क की चौड़ाई से लेकर गुणवत्ता का पैमाना भी अलग हो जाएगा। फिलहाल बिलासपुर से मुंगेली मार्ग की स्थिति अच्छी है।

ये भी एनएच घोषित


X
सारंगढ़-सरायपाली एनएच को मंजूरी नहीं, सारंगढ़-बसना सड़क बनेगी फोरलेन
Astrology

Recommended

Click to listen..