• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • वकील: आरोपी 21 वर्ष का, नरमी बरतंे, जज : न्यायोचित नहीं होगा
--Advertisement--

वकील: आरोपी 21 वर्ष का, नरमी बरतंे, जज : न्यायोचित नहीं होगा

Raigarh News - शादी का झांसा देकर 13 साल की नाबालिग लड़की और 11 साल की छोटी बहन को भी ले जाने वाले आरोपी को फास्ट ट्रैक कोर्ट के प्रभारी...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:40 AM IST
वकील: आरोपी 21 वर्ष का, नरमी बरतंे, जज : न्यायोचित नहीं होगा
शादी का झांसा देकर 13 साल की नाबालिग लड़की और 11 साल की छोटी बहन को भी ले जाने वाले आरोपी को फास्ट ट्रैक कोर्ट के प्रभारी अपर सत्र न्यायाधीश सरोज नंद दास ने 2 साल की जेल के साथ 2 हजार रुपए के अर्थदंड दिया है।

सुनवाई के दौरान आरोपी के वकील ने युवक का प्रथम अपराध और 21 साल का होने की वजह से सजा में नरमी बरतने की मांग की गई। जिस पर जज ने कहा कि आरोपी की सजा में नरमी बरतना न्यायोचित नहीं होगा। पुलिस की ओर से पैरवी कर रहे लोक अभियोजक पीएन गुप्ता ने बताया कि जूट मिल कयाघाट निवासी आरोपी विकास बसंत पिता प्यारी बसंत 21 साल 10 मार्च 2017 को इसी मोहल्ले के 13 साल की नाबालिग लड़की को शादी का झांसा देकर घर से भगा ले गया था। आरोपी युवक उसकी 11 साल की छोटी बहन को भी साथ ले गया था। पीड़ित परिजनों की रिपोर्ट पर जूट मिल पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366 के तहत अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया था। पुलिस ने दोनों नाबालिग लड़कियों को उसके घर से बरामद कर आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366, 376, 4,6 लैंगिक अपराध के तहत जुर्म दर्ज कर मामला न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय में पुलिस ने 366, 376 और 4 लैंगिक अपराध सिद्ध नहीं कर पाया। इसलिए न्यायालय ने धारा 363 में दोनों बहनों को भगाने पर दोनों एक-एक साल की सश्रम कारावास और 1-1 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया।

X
वकील: आरोपी 21 वर्ष का, नरमी बरतंे, जज : न्यायोचित नहीं होगा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..