• Home
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • गर्जना टीम ने कहा- सामान अगर है मेरा, तो सुरक्षा की जिम्मेदारी भी मेरी
--Advertisement--

गर्जना टीम ने कहा- सामान अगर है मेरा, तो सुरक्षा की जिम्मेदारी भी मेरी

समान अगर है मेरा, तो जिम्मेदारी भी है मेरी, इसी सोच को लेकर रेल यात्रियों में आत्मरक्षा का प्रशिक्षण रेल गर्जना की...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:40 AM IST
समान अगर है मेरा, तो जिम्मेदारी भी है मेरी, इसी सोच को लेकर रेल यात्रियों में आत्मरक्षा का प्रशिक्षण रेल गर्जना की टीम दे रही है। गुरुवार को दोपहर 1 बजे से रेल गर्जना की टीम महिला रेल यात्रियों को आत्मरक्षा के गुर बताए। कार्यक्रम का आयोजन रायगढ़ रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर किया गया।

इसमें लोगों को अपने ़सामानों की सुरक्षा करने के टिप्स भी दिए गए। रेल गर्जना द्वारा चलती ट्रेन व प्लेटफार्म पर लोगों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस अभियान की शुरुआत जीआरपी द्वारा स्वयंसेवकों के सहयोग से 14 मई को रायपुर रेलवे स्टेशन से किया गया था। रेल गर्जना टीम के मोहम्मद सिराज ने बताया कि रायपुर से भिलाई और भिलाई से दुर्ग चलती लोकल ट्रेन में भी प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ है। उन्होंने बताया कि अगला आयोजन राजनांदगांव में है। एसआर पी मिलना कुर्रे की सोच को जमीन पर उतारने का काम हर्षा साहू और उनकी टीम कर रही है। इस संबंध में मिलिना कुर्रे ने बताया कि ट्रेन में महिला के साथ छेड़खानी, पर्स छिनैती, सहित अन्य घटनाएं आए दिन सुनने में आती है, तो हमलोगों ने सोचा कि क्यों न महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाएं ताकि वह अपनी रक्षा कर सके। इसके लिए मितान पुलिस के साथ मिलकर रेल गर्जना शुरू किए। इसकी शुरुआत हमने रायपुर रेलवे स्टेशन से किए थे, जो राज्य के अन्य जिलों में 14 से 20 मई तक चलेगा। उन्होंने बताया कि भविष्य में रेलवे स्टेशन के अलावा शहरों व गांवों में जाकर सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग देने की है। उन्होंने स्टेशन में टीम के सहयोग से चैन स्नैचिंग, बैग छिनने से रोकना सहित आत्मरक्षा के गुण बताएं। इस अवसर पर विधायक रौशन लाल अग्रवाल, एसपी दीपक झा सहित विभिन्न सामाजिक संगठन के लोग उपस्थित रहे।

ट्रेन में सफर के दौरान यह सावधानी बरतें