न्यूज़

--Advertisement--

सुकमा में नक्सल मुठभेड़ में 3 माओवादी मारे गए, कई घायल, ऑपरेशन जारी

शनिवार को सुकमा के चिंतागुफा और बुर्कापाल में मुठभेड़ के दौरान कुल तीन नक्सलियों के मारे जाने की सूचना मिली है।

Dainik Bhaskar

Apr 28, 2018, 11:07 AM IST
शनिवार को बीजापुर में ग्रेहाउ शनिवार को बीजापुर में ग्रेहाउ

सुकमा। छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी ऑपरेशन लगातार जारी है। शनिवार को सुकमा के चिंतागुफा में मुठभेड़ के दौरान कुल दो नक्सलियों के मारे जाने की सूचना मिली है। इसमें एक महिला और एक पुरूष नक्सली है। यहां से 11 देसी हथियार भी बरामद हुए हैं। ऑपरेशन जारी है।

- स्पेशल डीजी नक्सल ऑपरेशन डीएम अवस्थी ने कहा कि वे नक्सल विरोधी ऑपरेशन में सफलता की ओर बढ़ रहे हैं। सुकमा के चिंतागुफा थाना इलाके के दुलेड़ में चल रहे एनकाउंटर के सपोर्ट के लिए और भी टीमें भेजी गई हैं।

- मौके पर डीआरजी और एसटीएफ की संयुक्त टीम डंटी हुई है। एसपी अभिषेक मीणा ने भी इस घटना की पुष्टि की है।

सड़क निर्माण में लगी गाड़ियों को फूंका, कर्मी को किया अगवा

- झारखंड की सीमा से लगे बलरामपुर के सामरी थाना क्षेत्र के बन्दरचुआ में नक्सलियों के शनिवार को जमकर उत्पात मचाया।
- यहां सड़क निर्माण में लगे 6 वाहनों को आग के हवाले कर दिया है। नक्सलियों ने सड़क निर्माण कार्य मे लगे सब इंजीनियर को भी अगवा कर लिया है।

शुक्रवार को मारे गए थे 8 नक्सली

- छत्तीसगढ़-तेलंगाना बाॅर्डर से 13 किमी दूर ग्रेहाउंड फोर्स ने शुक्रवार को एक बड़े एनकाउंटर को अंजाम दिया था। ग्रेहाउंड फोर्स ने छत्तीसगढ़ पुलिस की मदद से राज्य के इरमिड़ी इलाके की घेराबंदी कर नक्सलियों पर एक बड़ा हमला किया। इस हमले में फोर्स ने 10 नक्सलियों को मार गिराया।

- इस दौरान नक्सलियों की ओर से की गई फायरिंग में तेलंगाना के ग्रेहाउंड के 3 जवान भी घायल हो गए थे। जवानों ने जंगलों से 8 नक्सलियों के शव भी बरामद कर लिया था।

ग्रेहाउंड को चारों बार बड़ी सफलता

- ग्रेहाउंड का इस तरह का यह चौथा एनकाउंटर छत्तीसगढ़ में हुआ है। इससे पहले कोंटा-आंध्र बॉर्डर पर नक्सलियों की मीटिंग वाले स्थान पर ग्रेहाउंड ने हमला किया था। इस दौरान करीब एक दर्जन नक्सली मारे गए थे। इसके अलावा भद्राचेलम के निकट भी सालों पहले किए गए एक एनकाउंटर में आधा दर्जन नक्सली मारे गए थे। मार्च में होली के दिन ही टीम ने नक्सलियों की शादी में पहुंचकर 10 नक्सलियों को मार गिराया था। इस एनकाउंटर में डीवीसी मेंबर पापाराव भी घायल हुआ था।

ग्रामीणों का सहयोग मिल रहा

- गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने बताया कि कुछ समय से नक्सल इलाकों में पुलिस और फोर्स ने दबाव डाला है। पूर्व में मिली सफलता से सुरक्षाबलों का उत्साह बढ़ा है। ग्रामीणों का भी सहयोग मिल रहा है।

- वहीं, सुकमा में सीआरपीएफ, डीआरजी और जिला बल द्वारा पोलमपल्ली, चिंतागुफा समेत दूसरे इलाके में शनिवार को सर्चिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

गढ़चिरौली में मिली थी बड़ी कामयाबी

- विशेष अभियान दल (सी-60) के कमांडो और सीआरपीएफ की 9वीं बटालियन के जवानों ने 22 अप्रैल को भामरागढ़ तहसील में महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा से लगे कसनापुर-बोरिया जंगल क्षेत्र में इंद्रावती नदी तट पर मुठभेड़ में 37 नक्सलियों को मार गिराया था। इसमें नक्सलियों के दो डिविजनल कमांडर- साईनाथ और श्रीनू भी शामिल थे।

- दोनों पर राज्य सरकार ने 16-16 लाख रुपए का इनाम घोषित कर रखा था। साईनाथ के खिलाफ जिले के विभिन्न थानों में 75 तो वहीं, श्रीनू के खिलाफ 82 मामले दर्ज किए गए थे।

छत्तीसगढ़: पिछले 8 सालों में बड़े नक्सली हमले


- 13 मार्च 2018: नक्सलियों ने आईईडी विस्फोट कर एंटी लैंड माइन व्हीकल को उड़ा दिया था। इसमें 9 जवान शहीद और 3 गंभीर रूप से घायल हो गए थे।
- 24 अप्रैल 2017: सुकमा के दोरनापाल में सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन रोड ओपनिंग पार्टी के रूप में निकली थी। नक्सलियों ने एंबुश में फंसा हमला कर दिया जिसमें 25 जवान शहीद हो गए और 7 घायल हो गए।
- 11 मार्च 2017: मार्च को नक्सलियों ने सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन को निशाना बनाया था , जिसमें 11 जवान शहीद हो गए थे।

- मार्च 2017: बस्तर में हुए नक्सली हमले में CRPF की 219वीं बटालियन के 25 जवान शहीद हो गए थे।
- अप्रैल 2015: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में हुए नक्सली हमले में नक्सलियों के बिछाए बारूदी सुरंग के फटने से सुरक्षा बल के 4 जवान शहीद हो गए, जबकि 8 घायल हो गए थे।
- 12 अप्रैल 2014: छत्तीसगढ़ के बस्तर में नक्सली हमला हुआ था जिसमें 5 जवान शहीद हो गए थे और 14 लोगों की मौत हो गई थी।
- 11 मार्च 2014: झीरम घाटी में नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया था, जिसमें 14 जवान शहीद हो गए थे। वहीं एक नागरिक की भी मौत हो गई थी।
- 25 मई 2013: झीरम घाटी में नक्सलियों ने कांग्रेस पार्टी के परिवर्तन यात्रा पर हमला किया था। कांग्रेस के शीर्ष नेताओं सहित 30 से ज्यादा लोग मारे गए थे।
- 6 अप्रैल 2010: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा ताड़मेटला में 6 अप्रैल 2010 को पैरामिलिट्री फोर्स पर हमला कर दिया था। यह अब तक का सबसे बड़ा नक्सली हमला है। इसमें 76 जवान शहीद हो गए थे।

X
शनिवार को बीजापुर में ग्रेहाउशनिवार को बीजापुर में ग्रेहाउ
Click to listen..