--Advertisement--

सैकड़ों महिलाओं को ब्लैकमेल कर पैसे ऐंठने वाला नाइजीरियन गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा

फेक फेसबुक आईडी बना महिलाओं को झांसे में लेकर उनके फोटो, वीडियो मॉर्फकर वायरल करने की धमकी देते थे।

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 07:54 PM IST
पुलिस हिरासत में नाइजीरियन। पुलिस हिरासत में नाइजीरियन।

रायपुर। राजधानी पुलिस ने दिल्ली से एक ऐसे नाइजीरियन गिरोह को पकड़ा है जो व्यावसायिक वीजा पर नाइजीरिया से दिल्ली आकर रह रहे हैं। आरोपी ने रायपुर की एक महिला को फेसबुक के जरिए फ्रेंड बनाकर उसे प्यार के झांसे में लेकर फोटो और वीडियो मंगा ली थी। उसे एक वेबसाइट के जरिए मॉर्फ कर ब्लैकमेल करते रहे। उसकी शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों को दिल्ली के तिलक नगर इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने सैकड़ों महिलाओं के साथ वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकार की है।

- सिविल लाइंस पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला ने कुछ दिनों पहले फोटो और वीडियो वायरल कर पैसे की मांग करने वाले फेसबुक फ्रेंड के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। महिला ने बताया कि 13 अप्रैल को वेलेंसिया वार्ट नामक व्यक्ति ने महिला को फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा था।

- आरोपी पहले तो कुछ दिनों तक फेसबुक पर चैट करता रहा फिर उसने ह्वाट्सएप नंबर दिया। ह्वाट्सएप पर कुछ दिनों तक चैटिंग चलती रही। फिर आरोपी ने महिला को प्रेम जाल में फंसा लिया और विश्वास में लेकर उसके फोटोग्राफ्स के अलावा वीडियो ले लिया। आरोपी ने उसे दूसरे वेबसाइट के जरिए फेसमॉर्फ कर एडिट कर दिया और महिला को दिखाकर उसे वायरल करने की धमकी देने लगा। आरोपी ने उससे पैसों की मांग की।

- पीड़िता घबरा गई और आरोपी के बताए कई बैंक खातों में कई किश्तों में 7 लाख रुपए देकर उसका नंबर ब्लॉक कर दिया। कुछ दिनों बाद फिर महिला को एक दूसरे नंबर से मैसेज आने लगा और आरोपी और पैसे की मांग करने लगा। महिला ने ये नंबर भी ब्लॉक कर दिया। फिर आरोपी ने एक तीसरे नंबर से मैसेज किया और फोटो-वीडियो वायरल करने की बात की।

- महिला तंग आकर सिविल लाइंस थाने आई और आरोपी के खिलाफ ब्लैकमेल कर पैसे ऐंठने का मामला दर्ज करा दिया। बैंक डिटेल और कॉल लोकेशन के आधार पर पुलिस दिल्ली पहुंची।

बैंक डिटेल और सिम कार्ड का एड्रेस फर्जी निकला

- आरोपियों के बैंक डिटेल और सिम कार्ड के लिए दिए गए दस्तावेज में नाम और पता फर्जी था। आरोपियों ने ठगी के लिए इस अकाउंट को खोला था। पुलिस ने दिल्ली के एक स्थानीय युवक से संपर्क किया जो किराए पर कमरा देता था।

- उसके जरिए एक क्लू मिला और पुलिस तिलक नगर इलाके में पहुंच गई। वहां से चार नाइजीरिन को अरेस्ट किया। पूछताछ पर उन्होंने जुर्म कबूल कर लिया। आरोपियों ने बताया कि वे देशभर में ऐसी सैकड़ों महिलाओं से वारदात कर पैसे ऐंठ चुके हैं।

- आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद मोबाइल नष्ट कर देते थे। ये लॉटरी के नाम पर फेक ईमेल भेजकर ठगी करते थे।

- पुलिस के मुताबिक गिरोह के सभी सदस्य नाइजीरिया के हैं और व्यावसायिक वीजा पर भारत आए हैं। वे दिल्ली के तिलक नगर में किराए के मकान में रहकर ठगी का गिरोह चलाते हैं। गिरोह का मास्टर माइंड 29 वर्षीय कैनिथ उसिटा डिमा है। इसके गिरोह में 28 वर्षीय चीबूजोर शमूएल, 30 वर्षीय ऑस्टिन उर्फ एंटी और 30 वर्षीय बोली बेसिल हैं। पुलिस ने सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।

- आरोपियों के पास से 10 लैपटॉप, 20 मोबाइल फोन, 3 पासपोर्ट और 20 हजार रुपए नकदी बरामद की है।

फोटो : प्रमोद साहू

X
पुलिस हिरासत में नाइजीरियन।पुलिस हिरासत में नाइजीरियन।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..