--Advertisement--

बच्चा चोर के शक में विक्षिप्त युवक की हत्या करने में 9 गिरफ्तार, आरोपियों में एक महिला भी शामिल

सरगुजा के उदयपुर ढाब में बच्चा चोर बताकर भीड़ ने कर दी थी हत्या

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 01:25 PM IST
डमी फोटो डमी फोटो

- आरोपी महिला ने ही विक्षिप्त को नदी से खींचकर बाहर निकाला था

- इसके बाद ग्रामीणों ने पीट-पीटकर उसे मार डाला था

अंबिकापुर। बच्चा चोर की अफवाह में सरगुजा के उदयपुर ढाब के पास शुक्रवार बह विक्षिप्त युवक की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में वायरल हुए वीडियो की मदद से पुलिस ने शनिवार को 9 लोगों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

- पकड़े गए आरोपियों में एक महिला भी शामिल है। वो भीड़ में अकेली दिख रही थी। युवक को नदी से खींचकर महिला ने ही बाहर निकाला था। आरोपियों के अनुसार बच्चा चोर समझकर ग्रामीणों की भीड़ बेकाबू हो गई थी और जो आ रहा था उसे मार रहा था।

- अभी 10 से 15 और ग्रामीणों की गिरफ्तारी हो सकती है। खास बात यह है कि जहां घटना हुई है उससे लगे मेण्ड्राकला गांव में एक दिन पहले ही पुलिस ने बच्चा चोर की अफवाह को रोकने ग्रामीणों की बैठक ली थी और उन्हें इस तरह के भ्रम में नहीं आने की समझाइश दी थी। इसके बाद भी यह वारदात हो गई।

- आरोपियों में दो ग्रामीण यहां के भी है। मृतक युवक की अभी भी पहचान नहीं हो पाई है। एडिशनल एसपी रामकृष्ण साहू व सीएसपी आरएन यादव ने बताया कि घटना के बाद से पुलिस की टीम ने गांव में लगातार दबिश दी।

एक दिन पहले अफवाह रोकने पुलिस ने ली थी बैठक
- वायरल हुए वीडियो के आधार पुलिस ने लखनपुर थाना के ग्राम सिंगीटाना भुसूपखना पारा निवासी लालेश्वर उरांव, सुखसाय, अशोक तिर्की, सोमनामति बाई, मणिपुर पुलिस चौकी के ग्राम उदयपुर ढाब निवासी सूरज किस्पोट्टा, रुद्र प्रसाद, मोहरा लाल राजवाड़े, ग्राम मेण्ड्राकला निवासी लकी उरांव उर्फ झोल झाल व सालेन तिग्गा को गिरफ्तार किया है।


नाम सही नहीं बताया ताे बच्चा चोर समझकर पीटा

- विक्षिप्त युवक शुक्रवार सुबह 6 बजे मेण्ड्राकला व उदयपुर ढाब के बीच बिलासपुर रोड में दिखा था। आरोपियों में कुछ ने पहले उससे नाम पूछा। युवक ने सही जवाब नहीं दिया तो बच्चा चोर समझ उसकी पिटाई शुरू कर दी।

- सिंगीटाना, उदयपुर ढाब व मेण्ड्राकला के ग्रामीण भी वहां पहुंच गए और उसकी पिटाई शुरू कर दी। कुछ लाेग नशे में भी थे। युवक भागते हुए नदी तक गया लेकिन उसकी जान नहीं बची। आरोपियों के अनुसार भीड़ बेकाबू हो गई थी। वहां जो पहुंच रहा था वह युवक को पीट रहा था और वहां से चला जा रहा था। एक बस से भी उतरकर कुछ लोग उसकी पिटाई करने के बाद चले गए थे।

विक्षिप्तों को मेंटल हॉस्पिटल में भेजने चलेगा अभियान
- बच्चा चोर की अफवाह के बीच विक्षिप्तों को ग्रामीण संदेह की नजर से देख रहे हैं। इसे देखते हुए पुलिस ग्रामीण इलाकों में घूम रहे विक्षिप्त लोगों को पकड़कर कोर्ट से आदेश लेने के बाद मेंटल हास्पिटल में भर्ती कराएगी। एडिशनल एसपी ने बताया कि जिले के सभी थानों को यह निर्देश जारी कर दिया गया है, इससे घटनाएं रुकेगी। इसके साथ ही जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। उन्होंने अपील की है कि लोग किसी प्रकार की अफवाह में न आएं।