न्यूज़

--Advertisement--

चिटफंड कंपनियों का अपराध अब गैर जमानती, ऐड करने पर भी मिल सकती है सजा

यही नहीं रकम दोगुना करने का विज्ञापन भी अब दंडनीय माना जाएगा।

Danik Bhaskar

Dec 22, 2017, 07:20 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर. प्रदेश में चिटफंड कंपनी द्वारा किया गया अपराध अब गैर जमानती होगा। यही नहीं रकम दोगुना करने का विज्ञापन भी अब दंडनीय माना जाएगा। ठगी से निवेशकों को बचाने के लिए निक्षेपकों के हितों का संरक्षण संशोधन विधेयक गुरुवार को विधानसभा में पारित हो गया। विधेयक के संबंध में सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि कानून तो 2015 में लागू किया जा चुका था, लेकिन केंद्र सरकार द्वारा इस संबंध में पारित कानून के प्रावधानों को समाहित करते हुए राज्य सरकार द्वारा निक्षेपकों के हित में नया कानून लाया गया है।

- इसके अलावा छत्तीसगढ़ कृषि उपज मंडी संशोधन विधेयक भी पारित किया गया। इसमें 11 धाराओं में संशोधन होगा। कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि एक्ट में जो प्रसंस्करण-कर्ता का नाम आता था, उसके साथ-साथ अब विनिर्माता और विनिर्माण जोड़ा जाएगा।

- निर्माताओं को मंडी की परिधि में लाकर सुविधाएं देने के लिए प्रावधान जोड़ा जा रहा है। मंडी टैक्स खत्म होने से किसान कहीं भी उपज बेच सकेगा। अनुसूचित क्षेत्र की मंडी में उपाध्यक्ष पद अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित रहेगा।


राज्य अजजा आयोग में होगा उपाध्यक्ष

राज्य अजजा आयोग में एक उपाध्यक्ष का पद सृजित करने की अनुमति भी दे दी गई है। इस संबंध में संशोधन विधेयक पेश करते हुए मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि आयोग के विस्तृत कार्यक्षेत्र को और सशक्त करने के लिए उपाध्यक्ष की नियुक्ति की जानी है। आयोग में अभी अध्यक्ष और दो सदस्यों का प्रावधान है।

Click to listen..