--Advertisement--

सीडी कांड में BJP नेता मुरारका का नाम, संपर्क के लोगों से CBI ने शुरू की पूछताछ

सीबीआई ने 90 लोगों को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया था।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 08:40 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर. मंत्री राजेश मूणत की कथित सीडी के मामले में आखिरकार भाजपा नेता कैलाश मुरारका का नाम सामने आ गया है। सीबीआई ने जांच शुरू करते ही मुरारका को घेरे में लिया है। सीबीआई ने जांच शुरू करते हुए शहर और आसपास के 90 लोगों को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया था। मंगलवार को इनमें से दो दर्जन से ज्यादा लोगों के बयान लिए गए हैं। अधिकांश से यही पूछा गया है कि आपकी बातचीत मुरारका से होती है, उनसे क्या संबंध हैं? इस मामले में काफी दिन से कई नाम चर्चा में हैं। इनमें मुरारका का नाम था, जो सीबीआई जांच शुरू होते ही सामने आ गया है। सीबीआई पिछले एक हफ्ते से सीडी मामले की छानबीन में लगी है, लेकिन जांच की शुरुआत मुरारका के साथ हुई है। सूत्रों के अनुसार सीबीआई ने सबसे पहले उन्हीं लोगों से पूछताछ शुरू की है, जो पिछले ढाई-तीन माह के दौरान मुरारका के संपर्क में थे।

एसआईटी अफसरों का बयान
सीबीआई ने सबसे पहले सीडी कांड की जांच के लिए गठित एसआईटी के इंस्पेक्टर संजय सिंह और हेमप्रकाश नायक का भी बयान लिया है। इसके अलावा केस से जुड़े कुछ और लोगों का भी बयान लिया गया है। जांच अधिकारियों के बयान के आधार पर जांच शुरू की है। चर्चा है कि सुपर टोन डिजिटल के डायरेक्टर ईशू नारंग को भी बयान के लिए तलब किया गया है। सीबीआई दिल्ली पुलिस और गाजियाबाद पुलिस का भी बयान लेगी।

90 से ज्यादा लोगों को नोटिस
सीबीआई ने 90 से ज्यादा लोगों को नोटिस जारी करके और कॉल करके पूछताछ के लिए बुलाया है। इसमें भाजपा के कई लोग है। सीबीआई ने पुलिस लाइन स्थित पुलिस अफसर मेस के रूम नंबर-5 में अपना ऑफिस बनाया है। यहां सीबीआई एसपी मधुसूदन सिंघल और डीएसपी रिछपाल सिंह ठहरे हुए है। उनके अलावा वहां डीएसपी एसएस रावत और टीआई व एसआई है, जो लोगों से अलग-अलग पूछताछ कर रहे हैं।


केस सीबीआई कोर्ट में ट्रांसफर
सीडी कांड और विनोद वर्मा की गिरफ्तारी से संबंधित केस अब सीबीआई के स्पेशल कोर्ट में चलेगा। मंगलवार को केस जेएमएफसी भावेश कुमार वट्टी की कोर्ट से स्पेशल जज सीबीआई शांतनु कुमार देशलहरे की कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया गया। इस अदालत में अब 23 तारीख को बचाव पक्ष की बहस पर सुनवाई होगी।

ये सवाल पूछे गए
सीबीआई ने मंगलवार को 50 से ज्यादा लोगों को दफ्तर बुलाया था। अधिकांश से यही पूछा गया कि मुरारका से क्या संबंध है? कैसे जानते हो? कारोबार क्या है? सीडी कांड के बारे में क्या जानकारियां हैं, वगैरह। बुलाए गए लोगों ने मुरारका के रिश्तेदारों से लेकर खेल, कारोबार, राजनीति से जुड़े लोग शामिल है। जरूरत पड़ने पर फिर बुलाया जाएगा।

सीडी कांड में मैं शामिल नहीं: मुरारका
कैलाश मुरारका ने सीबीआई द्वारा किसी तरह की पूछताछ या बुलावे से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि मैंने एक माह पहले ही अपने बड़े नेताओं को जानकारी दे दी थी। उसके बाद पुलिस की एसआईटी के बुलावे पर उसे भी जानकारी दे दी है। मेरा सीडी कांड में कोई इन्वाल्टमेंट नहीं है।

एफआईआर दर्ज कराने वाले प्रकाश बजाज से भी हुई पूछताछ
सीडी कांड का खुलासा कर ब्लैकमेलिंग की रिपोर्ट दर्ज करवाने वाले भाजपा नेता प्रकाश बजाज से सीबीआई के दो अफसरों ने दो घंटे पूछताछ की। उन्हें सीबीआई ने पुलिस मेस बुलाया था। पूरा ब्योरा लेने के बाद सीबीआई के अफसरों ने पूछा कि उन्हें पैसों के लिए बार-बार फोन करने वाला कौन था? किस नंबर से फोन आता था? ब्लैकमेलिंग करने वाले ने आकाओं का जिक्र किया था। प्रकाश बजाज ने भी पूछताछ की बात स्वीकार की है।