--Advertisement--

सीडी कांड में चालान के लिए बचे 23 दिन लेट हुई सीबीआई, तैयारी में पुलिस ही जुटी

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 05:45 AM IST

अगर सीबीआई भी केस दर्ज कर जांच शुरू करेगी, तो उसे भी इतने ही दिन में पेश करना होगा पहला चालान।

CBI sleuths leave for 23 days for challan in CD case

रायपुर। चर्चित सीडी कांड में गिरफ्तार दिल्ली के पत्रकार विनोद वर्मा पर आरोप पत्र (चालान) पेश करने के लिए पुलिस के पास अब 23 दिन बाकी हैं। सीबीआई अब भी नहीं आई है, इसलिए वर्मा के खिलाफ इस मामले में चालान पेश करने की तैयारी रायपुर पुलिस ने शुरू कर दी है। हालांकि वर्मा के खिलाफ ही चालान पेश होगा, लेकिन सूत्रों के मुताबिक इस चालान में पूरे घटनाक्रम की तरफ इशारा किया जा सकता है।

जांच में कुछ लोगों के नाम आए सामने

- जांच में फर्जी सीडी बनाने, साजिश करने और सीडी को प्रचारित करने के मामले में कुछ और लोगों को नाम सामने आए हैं, यह इशारा उन्हीं की तरफ होगा।

- सूत्रों के अनुसार अगर इस दौरान सीबीआई एफआईआर कर लेती है तो उसे भी 23 दिन के भीतर ही चालान पेश करना होगा। पहले चालान के बाद भी सीबीआई ने गिरफ्तारियां शुरू कीं तो उनके खिलाफ पूरक चालान पेश किया जाएगा।

- पुलिस ने 27 अक्टूबर की सुबह 5 बजे गाजियाबाद के इंदिरापुरम में पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया। उन्हें गाजियाबाद के ही कोर्ट में पेश किया गया था। उन्हें फिर रायपुर लगाया गया और 1 नवंबर को जेल भेज दिया गया। उन्हें आईटी एक्ट और साजिश रचने के जुर्म में गिरफ्तार किया है।

- विधि विशेषज्ञों के अनुसार इन धाराओं में आईपीसी और सीआरपीसी के अनुसार अदालत में 60 दिन के भीतर चालान पेश करना होता है। वर्मा की गिरफ्तारी को 37 दिन हो गए हैं। अब पुलिस के बाद सिर्फ 23 दिन है।

- जमानत की सुनवाई को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने इस मामले की केस डायरी हाईकोर्ट भेज रखी है, जहां 12 दिसंबर को वर्मा की जमानत अर्जी पर सुनवाई होनी है।


केस दर्ज करने के बाद चालान

- केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सीडी कांड की जांच सीबीआई से करने के लिए पहले ही नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। लेकिन इस मामले में अब तक एफआईआर नहीं हुई है। 15 दिनों से चर्चा है कि केस आज कल में रजिस्टर कर लिया जाएगा।

- सीबीआई के एसपी रैंक के अफसर और स्टाफ दिल्ली से रायपुर आकर जा चुके हैं। यहां तक सीडी कांड की जांच कर रही टीम से भी संपर्क में हैं और जांच के जुड़े कुछ दस्तावेज भी तलब किए गए हैं। इसके बावजूद सीबीआई की जांच की दिशा अब तक स्पष्ट नहीं है।

- सीबीआई अफसरों ने एसआईटी को उनकी जांच के अलावा 10 से ज्यादा बिंदु देकर इन्हें स्पष्ट करने के लिए कहा है। बताते हैं कि अभी रायपुर पुलिस इन बिंदुओं को स्पष्ट नहीं कर पाई है।

- इसके बाद ही सीबीआई केस रजिस्टर करेगी, ऐसी चर्चा है। हालांकि रायपुर के आला पुलिस अफसरों का कहना है कि सीबीआई ने उनसे संपर्क नहीं किया है और दस्तावेज भी नहीं मांगे हैं।

कोर्ट में 12 तारीख को पेशी

- वर्मा की न्यायिक रिमांड 12 दिसंबर को खत्म हो रही है। उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। वहीं 5 दिसंबर को उनकी अर्जी पर पुलिस द्वारा दिए गए जवाब पर जिरह हो सकती है। उनके वकील इसमें जिरह कर सकते हैं।

- पुलिस ने अपने जवाब में कार्रवाई का सही बताया है और आरोपी के खिलाफ पुख्ता सबूत की बात कही है। उन्होंने जांच में किसी तरह के टेप कांड से जुड़े तथ्य या सबूत मिलने से इंकार किया है।

X
CBI sleuths leave for 23 days for challan in CD case
Astrology

Recommended

Click to listen..