--Advertisement--

साथी से बहस के बाद अफसरों ने नहीं दिया साथ, गोलियों से भून सबको दे दी मौत

एक दिन पहले हुई थी कहासुनी, अफसरों ने गजानंद का साथ दिया तो सबको दे दी मौत।

Dainik Bhaskar

Dec 10, 2017, 07:41 AM IST
रेवाड़ी का जवान गजानंद । रेवाड़ी का जवान गजानंद ।

जगदलपुर. छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में शनिवार शाम को CRPF के एक जवान ने अंधाधुंध फायरिंग की। इसमें चार जवानों की मौत हो गई। जबकि, एक जवान गंभीर रूप से जख्मी है। गोली चलाने वाले जवान को हिरासत में ले लिया गया है। हादसे के कारण का फिलहाल खुलासा नहीं हो पाया है, लेकिन सूत्रों के मुताबिक, ड्यूटी को लेकर गजानंद और संतराम के बीच लंबे वक्त से विवाद चल रहा था। शुक्रवार को भी झगड़े और झड़प जैसे हालात बने थे, जिसके बाद से माहौल तनावपूर्ण बना हुआ था। चारों मृतक गजानंद का पक्ष ले रहे थे। शनिवार दोपहर में एक बार फिर दोनों का विवाद हुआ, जो शाम होते-होते गहरा गया। सूत्रों का दावा है कि इस दौरान कैंप में मौके पर कई जवान थे। तभी संतराम ने अपनी इंसास को लोड किया और काफी देर तक चिल्लाता रहा और गोली चला दी।

इस कैंप में CRPF के 200 से ज्यादा जवान रहते हैं

- बासागुड़ा के CRPF 168 वीं बटालियन के कैंप पिछले कई दिनों से शांत नहीं था। यहां तैनात जवानों और अफसरों के बीच में मतभेद और रंजिश जैसे हालात बने हुए थे।

- CRPF के DIG पी. सुंदरराज ने बताया कि 168वीं बटालियन के जवान संतराम ने फायरिंग की। इसमें एसआई वीके शर्मा, एसआई मेघसिंह, एएसआई राजवीर और कॉन्स्टेबल जीएस राव की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि, एक जवान गंभीर रूप से जख्मी हो गया है।

- जख्मी जवान को बीजापुर में First aid के बाद रायपुर रेफर कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि हत्या के आरोपी कॉन्स्टेबल संतराम को हिरासत में ले लिया गया है। हत्या के कारणों की जांच की जा रही है। हार्डकोर नक्सल प्रभावित इलाके में बने इस कैंप में CRPF के 200 से ज्यादा जवान रहते हैं।

पुरानी रंजिश थी

कलेक्टर अय्याज तंबोली के मुताबिक, मृतक और जख्मी और गोली चलाने वाले जवान के बीच पुरानी रंजिश थी, लेकिन यह तय है कि छुट्‌टी को लेकर कोई विवाद नहीं था। पुलिस मामले की जांच कर रही है, CRPF भी अलग से जांच करेगी, जिसके बाद सही जानकारी सामने आ सकेगी।''

फायरिंग में इनकी हुई मौत

- एसआई वीके शर्मा(जम्मू-कश्मीर)
- एसआई मेघसिंह (अहमदाबाद, गुजरात)
- एएसआई राजवीर(झुंझुनु, राजस्थान)
- कॉन्स्टेबल जीएसराव (विजयनगरम, आंध्रप्रदेश)

बासागुड़ा के नक्सल मोर्चे के कैंप में आपसी विवाद के बाद खून-खराबा बासागुड़ा के नक्सल मोर्चे के कैंप में आपसी विवाद के बाद खून-खराबा
पिछले एक दशक में 115 जवानों ने ऐसी ही घटनाअों में जान गंवाई। पिछले एक दशक में 115 जवानों ने ऐसी ही घटनाअों में जान गंवाई।
जवान ने 2 एसआई समेत चार साथियों को गोलियों से भून डाला। जवान ने 2 एसआई समेत चार साथियों को गोलियों से भून डाला।
X
रेवाड़ी का जवान गजानंद ।रेवाड़ी का जवान गजानंद ।
बासागुड़ा के नक्सल मोर्चे के कैंप में आपसी विवाद के बाद खून-खराबाबासागुड़ा के नक्सल मोर्चे के कैंप में आपसी विवाद के बाद खून-खराबा
पिछले एक दशक में 115 जवानों ने ऐसी ही घटनाअों में जान गंवाई।पिछले एक दशक में 115 जवानों ने ऐसी ही घटनाअों में जान गंवाई।
जवान ने 2 एसआई समेत चार साथियों को गोलियों से भून डाला।जवान ने 2 एसआई समेत चार साथियों को गोलियों से भून डाला।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..