Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Engineer Arrested Turkadeeh Bridge Curuption Case

जिस पुल को तीन करोड़ रु. में बनाया उसी की मरम्मत पर 3 करोड़ और खर्च किए थे

मामले में अस्सिटेंट इंजीनियर बिलासपुर के उनके घर से गिरफ्तार किया गया।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 25, 2018, 08:00 AM IST

जिस पुल को तीन करोड़ रु. में बनाया उसी की मरम्मत पर 3 करोड़ और खर्च किए थे

रायपुर/बिलासपुर.बहुचर्चित तुर्काडीह पुल घोटाले में आरोपियों की गिरफ्तारियां शुरू हो गयी है। तीन करोड़ की लागत से बने पुल के मरम्मत में भी इतनी ही राशि खर्च कर शासन को नुकसान पहुंचाया गया था। ईओडब्ल्यू की टीम ने बुधवार को पीडब्ल्यूडी के अस्सिटेंट इंजीनियर आरके वर्मा को बिलासपुर के रामा वैली स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया। वर्मा लंबे समय से फरार चल रहे थे। कोर्ट ने तुर्काडीह पुल निर्माण में गड़बड़ी करने के आरोपी अधिकारी और ठेका कंपनी के संचालकों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। कोर्ट में चालान पेश होने के बाद से ही आरोपी फरार हैं।

- दरअसल बिलासपुर शहर के अंदर भारी वाहनों का प्रवेश रोकने सकरी से तुर्काडीह बाइपास का निर्माण किया गया। इस मार्ग में अरपा नदी पर पुल बना। तीन करोड़ की लागत में बना पुल वर्ष 2007 में यातायात के लिए खोला गया। उसी साल पुल में दरार आ गयी थी, जिसके बाद तीन साल तक पुल पर आवागमन रोक दिया गया था।

- खास बात ये कि इस पुल को दोबारा तैयार करने में भी 3 करोड़ रुपए और खर्च की गई। हाईकोर्ट ने मामले में संज्ञान लेते हुए जांच का आदेश दिया।

- एसीबी ने जांच कर तत्कालीन ईई एससी खंडेलवाल, लोक निर्माण विभाग के कार्य प्रभारी अधीक्षण यंत्री, सब इंजीनियर आरके वर्मा और सुंदरानी कंस्ट्रक्शन के डायरेक्टरों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर विशेष कोर्ट में जनवरी 2017 को चालान पेश किया है। आरोपियों को कोर्ट में उपस्थित होने नोटिस दिया था।

- नोटिस के बावजूद कोई भी आरोपी अदालत में उपस्थित नहीं हो रहा है। विचारण कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लेते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी कर अगली सुनवाई में आरोपियों को पेश करने का आदेश दिया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |
Web Title: jis pul ko teen karode ru. mein banayaa usi ki mrmmt par 3 karode aur khrch kie the
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×