--Advertisement--

दूसरे के बदले में एग्जाम देते पकड़े गए लड़के-लड़कियां, 500 रुपए के लिए करते थे ये काम

दूसरे के बदले में परीक्षा देते पकड़े गए सभी 7 छात्र राजधानी के अलग-अलग हाॅस्टलों के हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 08:33 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर. राष्ट्रीय ओपन स्कूल परीक्षा में क्राइम ब्रांच ने 7 फर्जी परीक्षार्थियों को गिरफ्तार किया है, इनमें 2 छात्राएं भी शामिल हैं। गिरफ्तारी शंकर नगर बीटीआई स्कूल में हुई, फर्जी परीक्षार्थी 500-500 रुपए लेकर 10वीं और 12वीं की परीक्षा दे रहे थे। दूसरे के बदले में परीक्षा देते पकड़े गए सभी सात छात्र राजधानी के अलग-अलग हाॅस्टलों के हैं। आरोपियों से पूछताछ के बाद राजधानी में डिग्री गर्ल्स कालेज के खेल शिक्षक और राजस्थान के एक युवक को अलग-अलग जगह से पकड़ा गया है। गिरोह के तार राजस्थान और उत्तरप्रदेश से तक फैले होने की जानकारी सामने आई है। गिरोह राजस्थान से ऑपरेट होने की जानकारी सामने आ रही है।


पुलिस के अनुसार पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि उन्हें डिग्री गर्ल्स कालेज का खेल शिक्षक विकेश सिंह और राजस्थान के मुकेश सिंह ने परीक्षा में बिठाया था। ये दोनों गिरोह के एजेंट के रूप में यहां दो साल से काम कर रहे थे। क्राइम ब्रांच पता लगा रही है कि राजधानी और राज्य में पिछले 2 वर्ष में हुई ओपन स्कूल परीक्षा में गिरोह ने कितने फर्जी परीक्षार्थी से परीक्षा दिलवाई। सूत्रों ने बताया कि दोनों एजेंट इस परीक्षा में पर्चा लिखने के लिए छात्रों को ढूंढते थे। यही नहीं, इन फर्जी परीक्षार्थियों को प्रश्नपत्र घर पर ही दे दिए जाते थे, ताकि आराम से सभी सवाल हल कर सकें।

पुलिस अफसरों ने बताया कि राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान की बुधवार को आयोजित 10वीं-12वीं की परीक्षा में पुलिस को आधे से ज्यादा (कुल 12 में से) परीक्षार्थियों के फर्जी होने की सूचना मिली थी। शुरुआती जांच के बाद परीक्षा के दौरान ही क्राइम ब्रांच और सिविल लाइन पुलिस ने सेंटर पर दबिश दी। परीक्षा रोकने के बजाय पुलिस डेरा डालकर बैठ गई। जैसे ही परीक्षा खत्म हुई, सभी 12 परीक्षार्थियों से पूछताछ की गई। पूछताछ के बाद 7 परीक्षार्थियों को जाने दिया गया, लेकिन शक होने पर कुछ देर बाद 2 परीक्षार्थियों को बुलवा लिया गया। इनसे जब कड़ाई से पूछताछ हुई, तो उन्होंने बताया कि एक काॅलेज के कर्मचारी ने उन्हें 500 रुपए लेकर परीक्षा में बैठने का ऑफर दिया था।


हम भी जांच कराएंगे
ओपन स्कूल परीक्षा सिस्टम से ली जा रही थी। फर्जी परीक्षार्थी कैसे बैठे, इसकी हम भी जांच कराएंगे। पुलिस जांच के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। एके भट्ट, रीजनल डायरेक्टर, मुक्त विद्यालय संस्थान

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..