--Advertisement--

मां की मौत के बाद पिता ने की दूसरी शादी, वो भी भागी, तो बेटी को बनाया बंधक

पिता के चंगुल से छूटने के बाद पहली बार उसने अपने मामा को देखा।

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 07:00 AM IST
सखी वन स्टॉप सेंटर की टीम के सद सखी वन स्टॉप सेंटर की टीम के सद

राजनांदगांव(छत्तीसगढ़). 19 साल तक पिता की प्रताड़ना सहने वाली पूजा (परिवर्तित नाम) अब आजाद जिंदगी जिएगी। इससे पहले उसने अपने किसी रिश्तेदार को नहीं देखा था। पिता के चंगुल से छूटने के बाद पहली बार उसने अपने मामा को देखा। एक एनजीओ की टीम और मितानिनों ने संयुक्त ऑपरेशन चलाकर पूजा को पिता के चंगुल से आजाद करवाया। इसके बाद उसकी काउंसिलिंग कराई गई। इच्छा अनुसार उसे मामा-मामी के सुपुर्द किया गया।

जन्म देने के डेढ़ माह बाद मां का देहांत

पूजा जब डेढ़ महीने की थी तभी उसकी मां का देहांत हो गया था। वह अपनी मां की इकलौती संतान थी। मां के गुजर जाने के तुरंत बाद पूजा के पिता ने दूसरी शादी कर ली। दूसरी मां की 4 संतानें पूजा के साथ ही रह रही थी। 10 साल पूर्व पूजा की सौतेली मां भी घर छोड़कर चल दी। इसके बाद से पूजा व 4 सौतेले भाई-बहन पिता के साथ रह रहे थे। पूजा इन सारी प्रताड़नाओं को लगातार सहन करती रही और खामोश रही। पूजा की इच्छा प्रोफेसर बनना है।

चाहकर भी घर से भागी नहीं

भास्कर से चर्चा में पूजा ने बताया कि पिता उसे बचपन से ही मरता-पीटता था। शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था। घर का पूरा काम करवाता था। ऐसे परिवेश में पूजा का मन उबने लगा। इसी वजह से उसने घर से भागने का मन बनाया, लेकिन नहीं भागी।

आरोपी को भेजा जेल, फिर लौटा
रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान सखी वन स्टॉप सेंटर व मितानिनों ने मोहारा पुलिस को सूचना देकर आरोपी पिता के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की। इसके बाद आरोपी जो जेल भेज दिया गया। 10 दिन बाद आरोपी जेल से बाहर आ गया। आरोपी को कड़ी सजा दिलाने का प्रयास किया जा रहा है।

X
सखी वन स्टॉप सेंटर की टीम के सदसखी वन स्टॉप सेंटर की टीम के सद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..