Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Hacker Hacked Cg Cm Office Website

22 साल के लड़के ने हैक की छत्तीसगढ़ सरकार की वेबसाइट, CM दफ्तर भी निशान पर

पाकिस्तानी ने हैक की CM दफ्तर आैर पीडब्ल्यूडी की वेबसाइट, 4 और खतरे में

तनमय अग्रवाल/राकेश पांडे | Last Modified - Dec 13, 2017, 08:51 AM IST

  • 22 साल के लड़के ने हैक की छत्तीसगढ़ सरकार की वेबसाइट, CM दफ्तर भी निशान पर
    +1और स्लाइड देखें
    हैकर की तस्वीर सिर्फ भास्कर में।

    रायपुर. छत्तीसगढ़ की दो साइट हैक करनेवाले फैजल अफजल की यह पहली तस्वीर है, जो एक एथिकल हैकर ने भास्कर को उपलब्ध करवाई है। इस हैकर ने पिछले ढाई साल में राज्य की कई साइट हैक कीं, लेकिन कोई साइबर टीम उसकी फोटो नहीं तलाश पाई। फोटो उपलब्ध करवाने वाले हैकर के अनुसार फैजल की उम्र महज 20-22 साल ही है। दरअसल, छत्तीसगढ़ सीएम आॅफिस और पीडब्ल्यूडी की वेबसाइट पाकिस्तानी हैकर फैजल अफजल ने हैक कर ली है। वेबसाइट हैक होने के बाद सीएम जनदर्शन और पीडब्ल्यूडी के टेंडर और पेमेंट से जुड़े सारे काम दिनभर ठप रहे। ये वही हैकर है, जिसने 29 सितंबर 2015 को सीजी पुलिस और व्यापमं सहित छत्तीसगढ़ के सरकारी विभागों की 24 वेबसाइट हैक की थी। सीएम ऑफिस की वेबसाइट मंगलवार और पीडब्ल्यूडी की रविवार को हैक की गई है।

    प्रदेश की सरकारी वेबसाइटों पर दो साल में फैजल के कई हमले

    - जुलाई 2015 में देश में डिजिटल इंडिया वीक मनाया जा रहा था, तब फैजल ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआईटी) रायपुर की वेबसाइट हैक कर दी थी।

    - उसी ने 29 सितंबर 2015 को छत्तीसगढ़ पुलिस और व्यापमं सहित सरकारी विभागों की 24 वेबसाइट हैक की। पुलिस की साइट पर पाकिस्तानी झंडा भी लगा दिया।

    - अगस्त 2016 में राष्ट्रीय बैंकों के ई पेमेंट सिस्टम को एक्सेस करने का दावा किया। ये दावा सुनकर राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियाें ने भी फैजल पर नजर रखने की बात कही।

    - मार्च 2017 में फैजल ने फिर से मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना, पंचायत, उद्योग और कृषि विवि समेत जनशिकायत विभाग की साइट हैक की और पाक समर्थित नारे लिखे।

    - हैकर फैजल की फेसबुक आईडी पर ज्यादातर पोस्ट हैकिंग से जुड़ी हुई हैं। इसलिए आशंका है कि छत्तीसगढ़ की सरकारी साइट पर उसकी निगाह है।

    वेबसाइट की खबर फैलते ही एनआईसी के दफ्तर में हड़कंप
    - मुख्यमंत्री दफ्तर की वेबसाइट की खबर मंगलवार को सुबह फैलते ही एनआईसी के दफ्तर में हड़कंप मच गया। अफसरों ने आनन-फानन में सर्वर डाउन किया। मंगलवार रात 10 बजे तक एनआईसी की टीम वेबसाइट शुरू नहीं कर सकी।

    - ये पहला मौका है जब इतने लंबे समय के बाद भी एनआईसी साइट दोबारा शुरू करने में नाकाम रही है। इससे पहले जितनी भी बार वेबसाइट हैक की गई थीं, एनआईसी कुछ ही घंटों में साइट रीस्टोर करने में कामयाब रही थी। एक्सपर्ट को आशंका है कि हैकर ने दोनों ही वेबसाइट की सारी या कुछ जरूरी फाइल डिलीट कर दी है।

    - हालांकि, अफसरों का कहना है कि साइट पूरी तरह ठीक है। सिक्योरिटी और एनालिसिस को ध्यान में रखकर हमने सर्वर डाउन रखा है।


    हैक होने का असर
    सीएमओ की वेबसाइट पर जनदर्शन के लिए अपॉइंटमेंट और रजिस्ट्रेशन की सूचना रहती है। वहीं, पीडब्ल्यूडी की वेबसाट पर टेंडर से जुड़ी अहम जानकारियां हैं।

    हैकर की चेतावनी: आगे कुछ भी हो सकता है...

    हैकर ने वेबसाइट पर चेतावनी देते हुए लिखा है कि ‘एडमिन सिक्योरिटी की खामियों को दूर कर लो। ये सिर्फ सिक्योरिटी रिमाइंडर है।’ हैकर ने ये भी लिखा है कि ‘हर दिन कोई न कोई हैक होता है, आज आपका दिन है, मुझे कभी भूलना मत’।

    हैक हुए सर्वर पर शासन की चार बड़ी वेबसाइट, सभी खतरे में

    - मुख्यमंत्री दफ्तर की वेबसाइट cmo.cg.gov.in और पीडब्ल्यूडी की वेबसाइट pwd.cg.nic.in अलग-अलग सर्वर पर संचालित हैं। आईटी एक्सपर्ट्स की मदद से ये अहम जानकारी मिली है कि इन दोनों सर्वर पर प्रदेश सरकार की चार और महत्वपूर्ण वेबसाइट वेबसाइट चल रही हैं और इन चारों को यही हैकर अब आसानी से हैक कर सकता है। इनमें स्कॉलरशिप पोर्टल scholarship.cg.nic.in, जनता शिकायत janshikayat.cg.nic.in, इंडस्ट्रीज industries.cg.gov.in और rfas.cg.nic.in शामिल हैं।

    - रिवर्स आईपी लुकअप से मिली जानकारियों और साइबर एक्सपर्ट्स के अनुसार इन वेबसाइट को हैकर इसलिए कभी भी हैक कर सकता है क्योंकि दो साइट हैक करने के बाद यह मान सकते हैं कि फिलहाल पूरा सर्वर उसके कब्जे में है।

    - भास्कर टीम ने रिवर्स आईपी लुकअप हाईटेक तकनीक के जरिये जानकारी जुटाई है, क्योंकि यही तकनीक बताती है कि एक सर्वर पर कितनी वेबसाइट संचालित हैं। गूगल पर यू गेट सिग्नल वेबसाइट पर रिवर्स आईपी लुकअप का ऑप्शन है। इस पर डोमेन का नाम लिखकर ये पता लगा सकते हैं कि कौन सी साइट किस सर्वर पर है और उसी सर्वर पर और कितनी वेबसाइट चल रही हैं। इसके बाद किसी भी बड़े हैकर के लिए साइट हैक करना मुश्किल नहीं होगा।

    पीडब्ल्यूडी का पेमेंट खतरे में नहीं
    पीडब्लूडी की वेबसाइट में केवल कांट्रैक्ट का डिटेल रहता है। ई-टेंडरिंग भी नहीं है। इसमें डेली पेमेंट या ऑनलाइन पेमेंट के डिटेल्स नहीं रहता है। इसके अलावा मंत्री का जीवन परिचय, उनके दौरे, उदघाटन, लोकार्पण और कार्यक्रम की खबरें अपलोड रहती है। प्रदेश के एक्सपर्ट्स का दावा है कि हैकर ने फिलहाल एक फाइल कापी की है। इसमें भी उसने कुछ चेंज नहीं किया है।

    सीएमओ वेबसाइट का डाटा रिस्टोर करना आसान
    मुख्यमंत्री दफ्तर की जो वेबसाइट हैक की गई है, उसमें सीएम के दौरा कार्यक्रम, भाषणों और घोषणाओं का संकलन होता है। इसके अलावा उनके सभी आधिकारिक कार्यक्रमों की फोटो और मैटर भी लगातार अपलोड किया जाता है। इन फोल्डर्स को रिप्लेस किया जा सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि इस वेबसाइट के पूरे डाटा को रीस्टोर कर लेना ज्यादा मुश्किल नहीं है।

    सरकारें लेटेस्ट फीचर पर ध्यान नहीं देतीं, इसलिए हैकर सफल : दुग्गल
    देश के जाने-माने साइबर लॉ एक्सपर्ट पवन दुग्गल ने दिल्ली से फोन पर भास्कर को बताया कि दरअसल सरकारें अपनी वेबसाइट की सुरक्षा पर ज्यादा ध्यान नहीं देतीं, इसलिए हैकर इसे आसानी से क्रैक कर रहे हैं। वेबसाइट को लेटेस्ट सिक्योरिटी फीचर का इस्तेमाल करके हैक होने से बचाया जा सकता है। चूंकि, सरकारी वेबसाइट को लगातार अपडेट नहीं किया जाता, इसलिए जैसे ही कोई इसे हैक करता है, वह सीधे डेटा बेस तक पहुंच जाता है। सरकार को साइबर सुरक्षा पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।
    पवन दुग्गल, साइबर लॉ एक्सपर्ट

    बैकअप से रिस्टोर हुआ
    यह हैकिंग नहीं डिफेसमेंट था। कोई डाटा चोरी नहीं हुआ है। हमने एनआईसी की मदद से दो घंटे में ही बैकअप से साइट को रिस्टोर कर दिया है।

    -एलेक्स पॉल मेनन, सीईओ, चिप्स

    छेड़छाड़ से इनकार
    वेबसाइट से किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई है। साइट पर हर दिन लाखों अटैक आते हैं। हमारे फायरॅवॉल उन्हें रोकते हैं।’’
    -दिलीप देवनाथ, एनआईसी

  • 22 साल के लड़के ने हैक की छत्तीसगढ़ सरकार की वेबसाइट, CM दफ्तर भी निशान पर
    +1और स्लाइड देखें
    सिम्बॉलिक इमेज।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Raipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Hacker Hacked Cg Cm Office Website
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×