--Advertisement--

हेड मास्टर ने स्टूडेंट को बुरी तरह से पीटा, कान से निकलने लगा खून

बेरहमीपूर्वक पिटाई किए जाने से पीड़ित छात्र रोहित इस कदर भयभीत कि अब उसने स्कूल नहीं जाने की बात कही है।

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 08:35 AM IST

मनेंद्रगढ़. सरकारी स्कूल के एक हेड मास्टर ने छात्र की इस कदर बेरहमी से पिटाई की कि उसके कान से खून निकलने लगा। इसके बाद भी शिक्षक को उस पर तरस नहीं आया, उसने पीड़ित छात्र को और पीटने के लिए धमकाया, जिससे भयभीत छात्र खून से सने कान को दबाकर कई घंटे तक कक्षा में बिलखता रहा। शाम को छुट्टी होने पर जब छात्र घर पहुंचकर अपने माता-पिता को आपबीती बताई। अभिभावकों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी शिक्षक के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है। सुखदेव चेरवा का 12 वर्षीय रोहित शासकीय प्राथमिक शाला बिहारपुर में कक्षा 5वीं का छात्र है। 21 दिसंबर गुरुवार को रोजाना की तरह वह स्कूल गया हुआ था। छात्र ने बताया कि दोपहर 1 बजे प्रधानपाठक जय सिंह गोंड़ ने उसे कुछ लिखने को दिया। उसने बताया कि वह धीरे-धीरे लिख रहा था जिससे शिक्षक ने नाराज होकर उसकी बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी।

अमानुषिक पिटाई से छात्र के बांए कान में गंभीर चोट आई और खूब बहने लगा। इसके बाद भी शिक्षक शांत नहीं हुआ। उसने पीड़ित छात्र को और पिटाई करने के लिए धमकाया, जिससे भयभीत छात्र हाथों से कान को दबाकर कक्षा में बैठकर कई घंटे तक रोता रहा। इस बीच अन्य शिक्षक भी बच्चों को पढ़ाने के लिए कक्षा में आए, लेकिन उनके द्वारा भी उसकी ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया। शाम 4:30 बजे छुट्टी होने पर जब छात्र अपने घर पहुंचा और माता-पिता को आपबीती बताई तो उनके होश उड़ गए। छात्र के पिता सुखदेव ने बताया कि दर्द से कराह रहे अपने पुत्र को इलाज के लिए उनके द्वारा उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिहारपुर ले जाया गया जहां चिकित्सक के द्वारा कान में टांका लगाकर उसका उपचार किया गया। दूसरे दिन शुक्रवार को छात्र के माता-पिता उसे लेकर मनेंद्रगढ़ थाने पहुंचे और घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस द्वारा भादवि की धारा 323, 506 एवं किशोर न्याय अधिनियम की धारा 23 के तहत आरोपी शिक्षक जय सिंह के खिलाफ जुर्म दर्ज कर विवेचना की जा रही है।


भयभीत छात्र ने दोबारा स्कूल नहीं जाने की बात कही


आरोपी शिक्षक के द्वारा बेरहमीपूर्वक पिटाई किए जाने से पीड़ित छात्र रोहित इस कदर भयभीत कि अब उसने स्कूल नहीं जाने की बात कही है। वहीं, उसके माता-पिता ने भी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि पिटाई से आहत उनका पुत्र कई घंटे तक स्कूल में कराहता रहा, लेकिन अन्य शिक्षकों को भी उस पर तरस नहीं आया।


आरोपी शिक्षक ने पूर्व में भी एक छात्रा को इसी तरह पीटा था


पीड़ित छात्र ने बताया कि आरोपी शिक्षक द्वारा दो-तीन साल पहले कक्षा सातवीं में पढ़ने वाली चंदा नामक छात्रा की भी इसी तरह पिटाई की गई थी, उसके कान से भी खून बहने लगा था। उसने बताया कि जब उसकी पिटाई की जा रही थी तो अन्य छात्र भी सहमें हुए थे। उसने शिक्षक के समक्ष काफी गुहार लगाई, लेकिन वे लगातार उसे पीटते रहे।


छात्र ने कहा- नशे की हालत में पढ़ाते हैं शिक्षक


अपने माता-पिता के साथ पुलिस थाने में रिपोर्ट कराने पहुंचे पीड़ित छात्र से जब इस संवाददाता ने सवाल किया तो उसने यह भी बताया कि कभी-कभार शिक्षक नशे की हालत में उन्हें पढ़ाने के लिए आते हैं। कुछ शिक्षक अपने पास गांजे की चिलम भी रखते हैं। स्कूल के शौचालय के आसपास उन्हें गांजा का सेवन करते भी देखा गया है।