--Advertisement--

हॉस्टल में ऐसा कुछ देख लिया स्टूडेंट ने कि हत्या कर फांसी पर लटका्र दी लाश

डेढ़ माह पहले हॉस्टल के डीन ने इसे फांसी लगाकर खुदकुशी का मामला बताया था।

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2018, 07:46 AM IST
मृतक छात्र योगेश। मृतक छात्र योगेश।

जगदलपुर(छत्तीसगढ़). बस्तर ब्लाॅक के लामकेरहॉस्टल में करीब डेढ़ महीने पहले 3 जनवरी को भोंड निवासी 6वीं के स्टूडेंट 11 साल के याेगेश कश्यप की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई थी। उसकी मौत के बाद हॉस्टल प्रबंधन ने परिजनों को बताया था कि योगेश ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है, लेकिन घटना के बाद से ही पुलिस के मन में यह सवाल था कि योगेश जैसा होनहार स्टूडेंट कैसे फांसी लगा सकता है। अब सामने आया- लड़के ने ऐसा कुछ देख लिया था जिसे उसे नहीं देखना चाहिए

उसके पिता कमल सिंह ने भी ऐसी आंशका जताई थी। इसके बाद पुलिस ने योगेश के शव की बारीकी से जांच की थी और इसकी फोटोग्राफी भी करवाई थी। पुलिस को अब तक की जांच में पता चला है कि घटना वाले दिन लड़के ने ऐसा कुछ देख लिया था जिसे उसे नहीं देखना चाहिए। इसके बाद आरोपी ने स्टूडेंट का मुंह बंद करवाने के लिए उसका गला घोंट दिया। इसके बाद हत्या के इस मामले को खुदकुशी बनाने के लिए उसे फांसी के फंदे पर लटका दिया। जिस दौरान हॉस्टल में यह सब हो रहा था उस दौरान हॉस्टल अधीक्षक किसी बैठक में शामिल होने गए थे।

पूरे हॉस्टल में गतिविधियां संदिग्ध

पुलिस के मुताबिक, घटना के तुरंत बाद मौके पर पहुंची पुलिस को फांसी जैसे कोई लक्षण नहीं मिले थे। स्टूडेंट के गले में भी ऐसा कोई निशान नहीं था जिससे फांसी लगाना प्रतीत हो। इसके अलावा पूरे हॉस्टल में गतिविधियां संदिग्ध हो गई थी। घटना के बाद कई लोग अचानक छुट्‌टी पर चले गए थे।

खुदकुशी से हत्या में तबदील हुआ मामला

स्टूडेंट के परिजनों को पहले बताया गया था कि स्टूडेंट चक्कर खाकर गिर गया है और बेहोश हो गया है। इस बीच पीएम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा था, लेकिन मामले में डाॅक्टर पीएम रिपोर्ट भी नहीं सौंप रहे थे। इसके बाद आईजी द्वारा सीएमओ से बातचीत कर पीएम रिपोर्ट उपलब्ध करवाई गई। पीएम रिपोर्ट में गला घोटे जाने के लक्षण बताए गए, लेकिन मृत्यु का कारण साफ नहीं लिखा गया। इसके बाद मामले में पुलिस ने जांच भी करवाई। सभी तथ्यों और परिस्थितिजनक साक्ष्यों को आधार मानकर पुलिस ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। इसके बाद अब मामले में आरोपी की तलाश की जाएगी। यह बस्तर का पहला ऐसा मामला है। जिसमें हॉस्टल में खुदकुशी के मामले में जांच करते हुए हत्या का मामला दर्ज किया है।

ऐसी घूमी शक की सुई

-हॉस्टल के कर्मचारी अलग-अलग बयान देने लगे।
- घटना के तुरंत बाद कई कर्मचारी छुट्‌टी पर चले गए।
- स्टूडेंट के गले में फांसी लगाने जैसा कोई निशान नहीं मिला।
- जिस स्थान पर स्टूडेंट ने फांसी लगाई थी उसकी कुंडी अंदर और बाहर से बंद हो सकती थी।
- पीएम रिपोर्ट में भी गला घोटने जैसी बात सामने आई।
- स्टूडेंट काफी होनहार था ऐसे में उसके खुदकुशी की बात किसी को हजम नहीं हो रही थी।

X
मृतक छात्र योगेश।मृतक छात्र योगेश।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..