Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Leader Statement After Devvrat Singh Leaving Congress

देवव्रत के कांग्रेस छोड़ने पर बाेले स्टेट इंचार्ज- जो चला गया, अब उसे मनाएंगे नहीं

प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने देवव्रत की वापसी के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद होने का एलान कर दिया।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 31, 2017, 08:10 AM IST

देवव्रत के कांग्रेस छोड़ने पर बाेले स्टेट इंचार्ज- जो चला गया, अब उसे मनाएंगे नहीं

रायपुर.तीन बार के विधायक व पूर्व सांसद देवव्रत सिंह कांग्रेस से इस्तीफे देने के बाद शनिवार को सुबह मुंबई चले गए। दूसरी ओर प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने उनकी वापसी के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद होने का एलान कर दिया। जबकि, एक दिन पहले तक नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने उनकी वापसी के लिए पहल करने की बात कही थी। एआईसीसी व पीसीसी को इस्तीफा भेजकर देवव्रत सिंह ने कांग्रेस के सभी बड़े नेताओं से दूरी भी बना ली है। बताया जा रहा है कि अभी तक उनकी किसी भी बड़े नेता से कोई बात नहीं हुई है।

वापस लाने के लिए मान मनौव्वल से साफ इंकार

- वहीं, शनिवार की शाम रायपुर पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने भी उनको वापस लाने के लिए मान मनौव्वल से साफ इंकार कर दिया।

- दो दिन के दौरे पर आए पुनिया ने एयरपोर्ट पर मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि जिसकी जो मर्जी है, वह करे। मैं अनेक बार छत्तीसगढ़ आया, लेकिन किसी के खिलाफ उन्होंने कभी कोई शिकायत नहीं की।

- भाजपा को पटखनी देकर राज्य में कांग्रेस की सरकार कैसे बनाई जाए, इस पर उनके साथ बड़ी गंभीरता से चर्चा होती थी। तीन चार दिन पहले राजनांदगांव में भी उनसे मुलाकात हुई थी। उस दौरान भी उन्होंने यूथ कांग्रेस सहित कई अन्य मोर्चे पर कैसे काम किया जाए, इस संबंध में सुझाव दिया।

- देवव्रत सिंह को मनाने के सवाल पर उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि जो पार्टी छोड़कर चला गया, उसे मनाने का काम यहां नहीं होता। हालांकि, उन्होंने देवव्रत के अचानक पार्टी छोड़ने के ऐलान पर आश्चर्य जताया।

पीढ़ियों से जुड़े लोग कांग्रेस छोड़ रहे,समझा जा सकता है कांग्रेस की स्थिति कैसी है: रमन

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने बिलासपुर में कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की स्थिति क्या है, इसी बात से पता चल जाता है। उन्होंने कहा कि जो कांग्रेस की तीन पीढ़ियों से जुड़े रहे, राष्ट्रीय स्तर से लेकर प्रदेश स्तर तक कांग्रेस के साथ रहे। अब वो कांग्रेस छोड़ रहे हैं, तो ये पता चलता है कि कांग्रेस की छत्तीसगढ़ में स्थिति कैसी है।

- ये पूछे जाने पर कि क्या देवव्रत सिंह बीजेपी के संपर्क में हैं? जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी या मेरे संपर्क की बात नहीं है, वो मेरे संपर्क में रहते ही है, वो मेरे परिवार के सदस्य हैं, लेकिन अभी तो मुंबई या कहीं घूमने गए हैं।- उधर जगदलपुर में प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस पर वार करते हुए कहा कि कांग्रेस टूट की कगार पर है, कांग्रेस से एक के बाद एक बड़े नेता अलग होते जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ में बीजेपी की रास्ता साफ है।

देर सबेर उपनेता रेणु जोगी के भी कांग्रेस छोड़ने की खबरें

- बता दें कि दो साल पहले अजीत जोगी ने कांग्रेस छोड़ नई पार्टी बनाई। उसके बाद विस के पूर्व उपाध्यक्ष धर्मजीत सिंह, पूर्व मंत्री विधान मिश्रा के साथ 3-4 पूर्व विधायक भी जोगी के साथ हो लिए। उसके बाद जोगी से निकटता के चलते विधायक अमित जोगी आर के राय, सियाराम कौशिक पार्टी से निष्कासित और निलंबित किए गए हैं। अब देर सबेर उपनेता रेणु जोगी के भी कांग्रेस छोड़ने की खबरें हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Raipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: devvrt ke kangares chhodene par baaele stet inCharj- jo chala gaya, ab use mnaaengae nahi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×