Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Leopard Victim Made An Elderly Woman

घर में सो रही महिला को उठा ले गया तेंदुआ, सुबह खेत में इस हालत में मिली

शहर से 8 किमी दूर ग्राम खमडोढ़गी की घटना, खमडोढ़गी में है तेंदुए का आतंक।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 14, 2017, 06:05 AM IST

  • घर में सो रही महिला को उठा ले गया तेंदुआ, सुबह खेत में इस हालत में मिली

    कांकेर(रायपुर). बीती रात तेंदुए ने एक बुजुर्ग महिला को अपना निवाला बना लिया। दरअसल, जब सुबह महिला घर पर नहीं मिली तो परिजन ग्रामीणों ने उसकी तलाश शुरू की। खेत के पास एक पत्थर पर एक पैर, रीढ़ की हड्डी दोनों हाथ मिले। महिला के बाकी अंग गायब थे। सूचना मिलते ही वन विभाग, फॉरेंसिक टीम और पुलिस मौके पर पहुंची। जांच पड़ताल में पाया महिला को तेंदुआ ने शिकार बनाया है।

    - महिला शन्नो हिचामी 65 वर्ष पति मनसाराम घर में 12 दिसंबर की रात सोने गई थी। महिला का मकान परिवार के अन्य सदस्यों से लगा है जहां वह अकेले रहती थी। बुधवार 13 दिसंबर सुबह महिला की बहू उसे दातून पानी देने गई तो वह नहीं मिली। पहले यही समझते रहे महिला शौच के लिए गई होगी। काफी देर बाद नहीं लौटी तो खोजबीन शुरू की गई।

    - घर से कुछ दूर महिला के कपड़े मिले। आंशका होने पर आसपास खेत जंगल में तलाश शुरू की। घर से आधा किमी दूर खेत से लगे एक बड़े पत्थर पर महिला के अंग मिले। यहां पैर, दोनों हाथ, सिर के बाल तथा रीढ़ की हड्डी पड़ी मिली। सिर अन्य हिस्सों को तेंदुआ खा चुका था।

    नरभक्षी है तेंदुआ

    -कांकेर सीसीएफ एचएल रात्रे ने बताया खमढोड़गी घटना से साफ है कि वहां तेंदुआ नरभक्षी हो गया है। तेंदुए की प्रवृत्ति होती है कि जहां शिकार करने के बाद छोड़ कर जाता है वहां दोबारा जरूर आता है। इसलिए नरभक्षी तेंदुआ की पहचान करने खमढोड़गी में उक्त स्थान पर कैमरा लगाया गया है।

    - नरभक्षी तेंदुए की पहचान होने के बाद उसे पकड़ने योजना बनाई जाएगी। इलाके में और भी तेंदुए हैं, इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखा जा रहा है कि पहले नरभक्षी तेंदुए की पहचान की जाए उसके बाद ही उसे पकड़ा जाए। जिले में यह पहली घटना है जिसमें तेंदुए ने नरभक्षी होकर महिला को अपना निवाला बना लिया। इसके पूर्व तक तेंदुआ मवेशी मुर्गों को ही अपना भोजन बनाते रहे हैं। 2014 में शहर में घुसे तेंदुए ने अपने बचाव दहशत में आमापारा में कुछ लोगों पर हमला किया था।

    पहले भी तेंदुआ दिख चुका है
    ग्रामीणोंने बताया कि आसपास पहाड़ी में तेंदुआ है। पहले भी तेंदुआ गांव चुका है। निकट के गांव कोकपुर में तेंदुआ हमेशा भोजन की तलाश में आता है। कोकपुर में कुछ दिनों पूर्व मुर्गी पालतू जानवरों को ले गया था। इसके अलावा दिन ढ़लते ही पहाड़ी में कई बार तेंदुआ देखा गया है।

    घर से लेकर खेत तक मिले पंजे के निशान
    - वन विभाग की फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंच जांच शुरू की। घर के बाहर तेंदुए के पंजे के निशान मिले। कुछ दूरी पर खून के धब्बे पंजे के निशान मिले। खेत में पड़े महिला के हाथ में भी तेंदुए के पंजे के निशान पाए गए। इससे स्पष्ट हो गया महिला को तेंदुआ उठा ले गया है।

    - रात में महिला के अकेले होने के कारण जानकारी किसी को नहीं लगी। दोपहर में शरीर के शेष अंगों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। शाम को वन विभाग ने अंतिम संस्कार करवाया।

    विभाग की ओर से वारिस को दिए जाएंगे चार लाख रुपए
    सहायकवन परिक्षेत्र अधिकारी हीरासिंह ठाकुर ने बताया कि महिला को तेंदुआ उठा ले गया था। घटना की पुष्टि हो गई है। जंगली जानवर के हमले से मौत होने के कारण नियमानुसार महिला के वारिस को चार लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा।


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×