--Advertisement--

लड़की को जमकर पीटा और बाइक पर ले गए खंडहर में, नशेड़ियों को ऐसे दिया चकमा

बदमाशों को पकड़वाने वाली रायपुर की लक्ष्मी यादव को मोदी देंगे वीरता पुरस्कार।

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 04:48 AM IST
लक्ष्मी यादव। लक्ष्मी यादव।

रायपुर. राजधानी में शक्तिनगर की रहनेवाली लक्ष्मी यादव (18) को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए चुन लिया गया है। गणतंत्र दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें सम्मानित करेंगे। लक्ष्मी का तीन नशेड़ी युवकों ने अपहरण किया था और उसे सूनी जगह पर ले गए थे। लक्ष्मी ने साहस और सूझबूझ से न सिर्फ अपहर्ताओं को चकमा दिया, बल्कि काफी दूर दौड़कर मोवा थाने पहुंची और पुलिस ने अपहर्ताओं को मौके से ही गिरफ्तार भी कर लिया। शहर में उसकी बहादुरी की काफी चर्चा थी। राज्य सरकार उसे पहले ही वीरता पुरस्कार के सम्मानित कर चुकी है।


- लक्ष्मी को 2 अगस्त 2016 की दोपहर उसके घर के पास रहनेवाले युवकों ने अगवा किया था। आरोपियों ने उसके दोस्त को जमकर पीटा, फिर लक्ष्मी को डांटकर बाइक पर बिठाया और कुछ दूर सूने खंडहर में ले गए।

- तीनों ही नशे में थे। वहां जाने के बाद एक आरोप ने लक्ष्मी से कहा कि चाबी बाइक में लगी है, उसे लेकर आओ। लक्ष्मी बाइक तक गई, चाबी निकालकर दुपट्टे में बांधी और तेजी से भाग निकली।
- आरोपी भी उसके पीछे दौड़े लेकिन नशे में होने की वजह से उसे पकड़ नहीं सके। भागते समय लक्ष्मी में चीख-पुकार मचाई लेकिन रास्ते में किसी ने मदद नहीं की। वह भागती हुई सीधे मोवा थाने पहुंची और पुलिस को जानकारी दी। चाबी नहीं होने की वजह से आरोपी बाइक के पास ही था, इसलिए मौके पर ही पकड़ा गया। इसके बाद लक्ष्मी का चयन राज्य वीरता पुरस्कार के लिए हुआ।