Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Maoist Was Attacked With 15 Rocket In Sukma Attack, Chhattisgarh

नक्सलियों के रॉकेट लांन्चर भी हो गए थे फुस्स, नहीं तो होता और भारी नुकसान

ऐसा दावा किया जा रहा है कि ब्लास्ट के कुछ देर बाद नक्सली थोड़ी देर के लिए पीछे हटे थे, फिर इलाके में आकर सर्चिंग की।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 15, 2018, 01:19 PM IST

  • नक्सलियों के रॉकेट लांन्चर भी हो गए थे फुस्स, नहीं तो होता और भारी नुकसान
    +2और स्लाइड देखें
    नक्सलियों द्वारा दागे गए देसी रॉकेट दिखाता एक जवान।

    सुकमा। किस्टाराम में सीआरपीएफ जवानों से भरी एमपीवी को ब्लास्ट करने के बाद भी नक्सली वहीं आसपास डटे रहे। ऐसा दावा किया जा रहा है कि ब्लास्ट के कुछ देर बाद नक्सली थोड़ी देर के लिए पीछे हटे थे, लेकिन उन्होंने इस पूरे इलाके को छोड़ा नहीं था। जवानों के घटनास्थल से हटते ही नक्सली दोबारा मौके पर पहुंचे और एमपीवी के मलबे को आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है कि रात में नक्सलियों ने एमपीवी के आसपास सर्चिंग भी की है। इस संबंध में फोर्स से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

    - बुधवार की सुबह जब घटनास्थल पर मीडिया कर्मियों का दल पहुंचा तब तक एमपीवी में से धुंआ उठ रहा था। ऐसे में माना जा रहा है कि रात में नक्सली दोबारा यहां पहुंचे थे।

    - यह पूरा इलाका नक्सलियों का गढ़ माना जाता है और इनका कोर क्षेत्र है। यहां इनकी पकड़ सबसे ज्यादा मजबूत है। इससे पहले भी 18 फरवरी को भेज्जी के एलाड़मड़गू में हमले के दौरान एक पोकलेन और पांच ट्रैक्‍टर को आग के हवाले किया था।

    नक्सलियों ने 15 रॉकेट दागे, जवानों तक नहीं पहुंचे


    - किस्टारम में एमपीवी को उड़ाने के बाद नक्सलियों ने जवानों पर राकेट भी दागे।

    - नक्सलियों ने एक के बाद एक 15 लांचर जवानों पर छोड़े। इनमें से 12 फूट गए, लेकिन ये जवानों तक नहीं पहुंचे। इस मामले में खास बात यह है कि जो राकेट जवानों तक पहुंचे वे फूट ही नहीं पाए

    - जवानों ने बताया कि नक्सलियों के देशी लांचर हूबहू कंपनी मेड लांचर जैसे ही हैं, लेकिन खुशकिस्मती रही कि ये जवानों तक पहुंचने के बाद भी नहीं फूटे।

    - इसके अलावा नक्सलियों ने किस्‍टाराम से पालोदी के बीच सात आईईडी लगाई गई थी। इनमें से सिर्फ एक में ही नक्सली ब्लास्ट कर पाए बाकी 6 आईईडी को जवानों ने बरामद कर लिया है।

    - जवानों ने मंगलवार को चार और बुधवार को दो आईईडी बरामद कर मौके पर ही निष्क्रिय कर दिया था।

    फोटो : नीरज भदौरिया

  • नक्सलियों के रॉकेट लांन्चर भी हो गए थे फुस्स, नहीं तो होता और भारी नुकसान
    +2और स्लाइड देखें
    अगले दिन भी एमपीवी से उठ रहा था धुंआ।
  • नक्सलियों के रॉकेट लांन्चर भी हो गए थे फुस्स, नहीं तो होता और भारी नुकसान
    +2और स्लाइड देखें
    सूत्रों की मानें तो नक्सली घटना के बाद भी यहां सर्चिंग करने आए थे।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×