--Advertisement--

2 स्टेट की पुलिस नहीं ढूंढ सकी जिसे, उसे 2 महीने से ससुरालवालों ने बना रखा था बंधक

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 08:15 AM IST

जवान ने पुलिस से कहा कि उसे ससुराल वालों ने दो महीने से भिलाई में बंधक बना रखा था।

दो महीने से गायब था आईटीबीपी क दो महीने से गायब था आईटीबीपी क

रायपुर/जबलपुर. रायपुर रेलवे स्टेशन से दो महीने से गायब आईटीबीपी का जवान रामकुमार सराठे शुक्रवार सुबह रहस्यमय तरीके से जबलपुर के ओमती थाने में पहुंच गया। जवान ने पुलिस से कहा कि उसे ससुराल वालों ने दो महीने से भिलाई में बंधक बना रखा था। उसे फोर व्हीलर वाहन से कहीं ले जा रहे थे, तभी वह भाग निकला। उसे एक बाइक वाले युवक ने ओमती थाने के पास छोड़ दिया। पुलिस ने जवान को आईटीबीपी और उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।

ठीक तरीके से बातचीत नहीं कर पा रहा था

- गौरतलब है कि इस हफ्ते भास्कर ने जवान की गुमशुदगी को लेकर एक खबर छापी थी। इसमें पहली बार आईटीबीपी दिल्ली मुख्यालय बात की थी। आईटीबीपी ने उस वक्त दोनों राज्यों की पुलिस से बात कर मामले में दबाव बढ़ाने की बात भी की थी।

- ओमती थाना प्रभारी अरविंद चौबे ने बताया कि शुक्रवार सुबह आईटीबीपी का जवान रामकुमार सराठे थाने पहुंचा था। वह ठीक तरीके से बातचीत नहीं कर पा रहा था।

ससुराल पक्ष का अगवा किए जाने से इंकार

- भास्कर ने रामकुमार के ससुर माधवप्रसाद सराठे से भी बात की, उन्होंने उसे अगवा किए जाने के आरोप से साफ इनकार किया है।

- माधवप्रसाद ने कहा कि जवान जानबूझकर कहीं छिपा हुआ था। उस पर दहेज प्रताड़ना, घरेलू उत्पीड़न के केस पहले से चल रहे हैं।


मां ने कहा- बेटा मिला हम खुश हैं
इटारसी के जमानी गांव निवासी आईटीबीपी जवान रामकुमार की मां लता ने भास्कर का आभार जताते हुए कहा कि हमारी कहीं सुनवाई नहीं हो रही थी। उसके पिता दोनों आंखों से देख नहीं पाते, मैं भी लाचार हूं। छोटे भाई ओमप्रकाश सराठे ने बताया कि उन्हें भैया ने कहा कि वो ससुराल वालों के चुंगल में था। मौका मिलते ही वे भागकर पुलिस के पास पहुंचा। गांव के सरपंच शंभुदयाल दुबे ने कहा कि रामकुमार पर पूरे जमानी को गर्व है। पूरे गांव के लोगों ने जवान के परिवार का दर्द साझा किया।


जवान बीमार है तो आईटीबीपी खुद करेगा इलाज
कोंडागांव आईटीबीपी के सीओ सुरेंद्र खत्री ने बताया कि वे जीआरपी रायपुर, जबलपुर की लोकल, पुलिस दिल्ली मुख्यालय से इस मामले पर लगातार संपर्क बनाए हुए थे। जबलपुर में तैनात आईटीबीपी के अधिकारियों की टीम बड़ी ओमती थाना भी पहुंची। ताकि जवान या उसके परिजनों को किसी तरह की कोई दिक्कत ना हो।

बाइक सवार ने स्टेशन के पास छोड़ा

युवकों से चंगुल से भागने के बाद वह सड़क पर पहुंचा। उसे एक बाइक सवार युवक मिला। बाइक सवार युवक ने उसे जबलपुर रेलवे स्टेशन के पास छोड़ दिया। इसके बाद वह सुबह 6 बजे ओमती थाने पहुंचा। उसने पुलिस को अापबीती बताई, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस ने रामकुमार सराठे के परिजनों को सूचना दे दी।

कोंडागांव आईटीबीपी सीओ सुरेंद्र खत्री ने बताया कि जवान करीब दो माह से लापता था। उसकी तलाश के लिए आईटीबीपी जुटा था। अगर वो बीमार है, तो हम खुद उसका इलाज करवाएंगे।

X
दो महीने से गायब था आईटीबीपी कदो महीने से गायब था आईटीबीपी क
Astrology

Recommended

Click to listen..