Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Mother And Father Killing Case Police Investigation

हत्यारे बेटे के मन में बचपन से ही था गुस्सा, हमेशा से ही दबाकर रखते थे पिता

पूरे मामले में अब तक की पुलिस जांच में हुआ यह खुलासा।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 08, 2018, 08:16 AM IST

  • हत्यारे बेटे के मन में बचपन से ही था गुस्सा, हमेशा से ही दबाकर रखते थे पिता
    +2और स्लाइड देखें

    भिलाई(छत्तीसगढ़). नगपुरा तीर्थ के प्रमुख ट्रस्टी रावलमल जैन व सुरजी देवी हत्याकांड में नया खुलासा हुआ है। पुलिस जांच रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि संदीप बचपन से ही अपने मन में पिता के प्रति आक्रोश पाल रहा था। इसकी वजह है कि आरोपी के पिता ने उसे बचपन से ही दबा के रखा था। रावलमल जैन ने कभी भी उसे उठने का मौका नहीं दिया। इस कारण आरोपी के मन में पिता के प्रति बचपन से ही आक्रोश पल रहा था। पुलिस ने इसे अपने मेमोरेंडम में भी शामिल किया है। इसके अलावा अन्य लोगों के बयान लिए जा रहे।

    पिता को तीन और मांको मारी थी दो गोली

    1 जनवरी तड़के रावलमल जैन (74) और उनकी पत्नी सुरजी देवी (71) का इकलौते बेटे संदीप जैन ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। संदीप ने पिता रावलमल जैन पर पीछे से एक के बाद एक तीन गोलियां दागी। एक गोली लीवर तथा दो गोली लंग्स में लगी थी। संदीप कुछ देर बाद अपनी मां के कनपटी और दो गोलियां सीने में मार दी।

    घटना को अंजाम देनेरात में नहीं सोया संदीप जैन

    पुलिस ने बताया कि घटना को अंजाम देने के लिए संदीप पूरी रात सोया नहीं था। संदीप घटना दिनांक की रात चार बजे घटना को अंजाम देने की कोशिश किया था लेकिन वह नाकाम हो गया। उसके बाद वह दुबारा दीवाल में छिपकर घटना को अंजाम दिया।

    नार्को टेस्ट केबाद सामनेआएगी बात

    अफसरों ने बताया कि संदीप के नार्को टेस्ट के लिए दुर्ग न्यायालय में आवेदन लगाया गया है। नार्को टेस्ट संदीप जैन की सहमति के बगैर नहीं होगा। पुलिस का मानना है कि आरोपी यदि नार्को टेस्ट कराता है तो खुद ब खुद बात सामने आ जाएगी। यदि संदीप नार्को टेस्ट के लिए मना करेगा तो भी सच्चाई सबके सामने आ जाएगी।

    जिन्होंने मुहैया कराई पिस्टल, बनेंगे गवाह

    पुलिस अपना पक्ष मजबूत करने के लिए संदीप को घटना को अंजाम देने के लिए पिस्टल मुहैया कराने वाले आरोपी को सरकारी गवाह बनाएगी।

    मौत के बाद कई सबूत हो गए गायब

    जांच जारी हत्या के बाद घटना स्थल पर घर वाले पहुंच गए थे। जिस कारण आरोपी के ज्यादातर निशान गायब है। इस कारण एफएसएल टीम को कोई अहम सुराग हाथ नहीं लगा है। एफएसएल की टीम बंदूक से चली गोली की जांच कर रही है। जल्द ही रिपोर्ट मिलगी।

  • हत्यारे बेटे के मन में बचपन से ही था गुस्सा, हमेशा से ही दबाकर रखते थे पिता
    +2और स्लाइड देखें
  • हत्यारे बेटे के मन में बचपन से ही था गुस्सा, हमेशा से ही दबाकर रखते थे पिता
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×