--Advertisement--

मां ने मासूम बेटियों की चाकू से गोदकर ली जान, खुद की कलाई की नस काटी

पिता घर में बच्चियों और पत्नी को लहूलुहान देख चिल्लाने लगा और बेहोश हो गया।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 08:38 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर. शिक्षाकर्मी यमुना पति ईश्वर पाड़े ने अपनी दो बेटियों यामिनी (5) और लीना (2) को चाकुओं से गोदकर मार डाला। बेटियों को मारने के बाद यमुना ने खुद को भी चाकू से गोदा और कलाई की नस काट ली। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रारंभिक उपचार के बाद रायपुर रेफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना के कारण का खुलासा अभी नहीं हो सका है।

- यमुना लालपुर प्राथमिक शाला में पदस्थ थी, पति ईश्वर पाड़े खैरटखुर्द में वर्ग एक में पदस्थ है। दोनों उखरा गांव के रहने वाले हैं, बागबाहरा में जनकराम साहू के यहां परिवार किराए से रहता है।

- ईश्वर बाहर गया हुआ था, देर शाम जब वह घर पहुंचा तो उसके पिता बाहर बैठे थे, लेकिन वे घटना से अनजान थे।

- ईश्वर जब घर में दाखिल हुआ तो बच्चियों और पत्नी को लहूलुहान पाया, वह चिल्लाने लगा और बेहोश हो गया, लेकिन उसकी आवाज सुनकर पड़ोसी आ गए।

- यमुना की उस समय सांस चल रही थी। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां से उसे रायपुर रेफर कर दिया गया। लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

- यमुना ने थाना प्रभारी शशिकला उईके और डॉक्टर सीमा बिनकर जैन को दिए बयान में बताया कि उसने पहले बेटियों को मारा फिर आत्महत्या का प्रयास किया।