न्यूज़

--Advertisement--

सुकमा में पुलिस नक्सली मुठभेड़, एक महिला माओवादी ढेर, कई के घायल होने की सूचना

नक्सल विरोधी ऑपरेशन के दौरान के बुधवार को केरलापाल में डीआरजी और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई।

Dainik Bhaskar

Mar 28, 2018, 01:54 PM IST
प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
  • इस महीने में हुई नौ बड़ी घटनाएं। बस्तर में हुए थे 11 जवान शहीद।
  • मार्च में अबतक 6 महिला नक्सली मारी गई। भारी मात्रा में हथियार बरामद।

सुकमा। नक्सल विरोधी ऑपरेशन के दौरान के बुधवार को केरलापाल में डीआरजी (डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप) और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में एक महिला नक्सली के मारे जाने और उसके साथियों के घायल होने की सूचना है। माओवादी महिला नक्सली की डेड बॉडी और वेपन डीआरजी के जवानों ने बरामद किया है। बाकी के घायल नक्सलियों को लेकर उनके साथी गोगुंडा पहाड़ी की ओर भागे हैं। मुठभेड़ अभी चल रही है।

1) घेरने की बजाय खुद घिर गए माओवादी

- गुरिल्ला वार में माहिर नक्सली बुधवार को डीआरजी के जवानों को घेरने के चक्कर में खुद ही घिर गए। केरलापाल में सर्चिंग पर निकले डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप के जवानों ने नक्सलियों को घेरकर उनपर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरु कर दी।

- इस दौरान एक महिला माओवादी मारी गई और बाकी के नक्सली मौके से भाग निकले। महिला माओवादी का शव और कुछ हथियार जवानों ने जब्त किए हैं। मुठभेड़ की पुष्टि सुकमा एसपी अभिषेक मीणा ने की।

- अभिषेक मीणा ने दावा किया है कि एनकाउंटर में कई नक्सलियों के घायल होने की खबर है। माओवादी अपने घायल साथियों को लेकर गोगुंडा पहाड़ी की ओट में भाग गए हैं। मौके पर अभी भी रह-रहकर फायरिंग हो रही है।

2) ओडिशा के कोरापुट में भी मिली थी भारी सफलता

- रविवार की रात बस्तर से लगे ओडिशा के कोरापुट जिले में मुठभेड़ के दौरान 4 वर्दीधारी महिला नक्सली मारी गईं थीं। इनमें से एक छत्तीसगढ़ की थी जिसपर 4 लाख रुपए का इनाम रखा गया था। इस मुठभेड़ में जवानों को बड़ी मात्रा में विस्फोटक, इंसास और 4 एसएलआर राइफल समेत कई राउंड गोलियां और 10 हजार रुपए कैश मिले थे। इस ऑपरेशन को डिस्ट्रिक्ट वॉलेंटियर फोर्स (डीवीएफ) ने अंजाम दिया था।

3) बस्तर में आईईडी विस्फोट से 11 जवान शहीद हुए थे शहीद

- मार्च महीने की बात करें तो अकेले इस माह में 6 से ज्यादा नक्सली घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें 5 घटनाओं में नक्सलियों की आईईडी से 9 जवान शहीद हो गए और 7 से ज्यादा जवान घायल हो गए हैं।

- 8 मार्च को रावघाट थाना के किलेनार इलाके में घात लगाए नक्सलियों ने बीएसएफ पार्टी पर हमला कर दिया। नक्सलियों द्वारा किए गए ब्लास्ट की चपेट में आने से बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट व एक जवान शहीद हो गए।

- 13 मार्च को सुकमा जिले के पलौदी गांव के करीब 13 मार्च को दोपहर में नक्सलियों ने आईईडी विस्फोट कर नौ जवानों को शहीद कर दिया। दोपहर करीब 12.15 बजे घात लगाए नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट किया और माइन प्रोटेक्टेड व्हीकल को उड़ा दिया। विस्फोट इतना तेज था कि टनों वजनी एमपीवी के परखच्चे उड़ गए। घटना में दो जवान घायल हो गए।

- 23 मार्च को बीजापुर के भोपालपट्टनम से दो किमी की दूरी पर एरियाडोमिनेशन के निकले जवान आईईडी की चपेट में आए गए। इस घटना में इंस्पेक्टर योगेश पटेल, आरक्षक इंद्रजीत सिंह घायल हो गए थे। दोनों जवानों को बेहतर उपचार के लिए चॉपर से रायपुर लाया गया था।

- 24 मार्च को सुकमा के फूलबगड़ी के पोग्गाभेज्जी इलाके में डीआरजी के जवान सर्चिंग के बाद कैंप की ओर लौट रहे थे। अचानक रास्ते में नक्सलियों द्वारा लगाया गया आईईडी ब्लास्ट हो गया और डीआरजी के दो जवान घायल हो गए।

-26 मार्च को सड़क सुरक्षा में निकले सीआरपीएफ 231वीं बटालियन का एक जवान आईईडी (इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) की चपेट में आ गया। इससे जवान बुरी तरह घायल हो गया। इस घटना के बाद आस-पास पेड़ों की आड़ में छुपे नक्सलियों ले जवानों पर फायरिंग भी की।

होली के दिन शादी में मारे गए थे नक्सली

- 2 मार्च को तेलंगाना और छत्तीसगढ़ बॉर्डर पर ग्रे-हाउंस फोर्स ने 10 नक्सलियों को मार दिया था। इसमें 6 महिला नक्सली थीं। 2 मार्च को नक्सली कपल आपस में शादी कर रहे थे। इस दौरान भारी मात्रा में नक्सली जुटे हुए थे।

रिपोर्ट : रमाशंकर साहू

X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
Click to listen..