--Advertisement--

मुखबिरी का आरोप लगाकर नक्सलियों ने काट दिया पुलिसकर्मी के भाई का गला

शनिवार रात ताड़ोकी थाना के गांव सरंडी में नक्सलियों ने ग्रामीण की गला रेत कर हत्या कर दी।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 06:17 AM IST
Naxalites cut off the thug of the policeman brother

कांकेर। शनिवार रात ताड़ोकी थाना के गांव सरंडी में नक्सलियों ने ग्रामीण की गला रेत कर हत्या कर दी। इससे पहले यहां से 9 किमी दूर बर्रेबेड़ा में सांसद विक्रम उसेंडी के घर से महज 100 मीटर दूर निर्माणाधीन रावघाट परियोजना रेल लाइन में बैनर बांधकर मुख्यमंत्री के उस दावे को चुनौती दी है, जिसमें रेड कॉरिडोर को ग्रीन कॉरिडोर में बदलने का दावा किया था। वहीं सरंडी में हत्या के दौरान कुछ लोगों ने चार पहिया वाहन की आवाज सुनी जो कि असामान्य माना जा रहा है।

नक्सलियों ने दिया वारदात को अंजाम

- आशंका जताई जा रही है दोनों जगह नक्सलियों के एक ही गुट ने वारदात को अंजाम दिया है। मौके पर चार पहिया वाहन के निशान भी पाए गए हैं। नक्सली 2 दिसंबर की रात 9 बजे सरंडी निवासी ग्रामीण बेलूराम ध्रुव 40 वर्ष के घर पहुंचे।

- नक्सलियों ने आवाज लगाई तो उसका 14 साल का बेटा भी बाहर आ गया। बेटे के सामने ही नक्सलियों ने पिता को पकड़ लिया और उसे अंदर भेज बाहर से दरवाजा बंद कर दिया। घर से कुछ दूर ले जाकर ग्रामीण की गला रेत कर हत्या कर दी।

- जाते-जाते नक्सली ग्रामीण की बाड़ी में बैनर भी बांध गए, जिसमें उसके खिलाफ पुलिस मुखबिर होने का आरोप लगाया। इसके साथ ही पुलिस में भर्ती उसके भाइयों के साथ मिल नक्सलियों को नुकसान पहुंचाने की बात लिखी है।

- मामले में मृतक के पुत्र ने ताड़ोकी थाना में एफआईआर दर्ज कराई है। बेटे ने यह भी बताया है कि जो व्यक्ति उसके घर पर बुलाने पहुंचा था उसके पास एके-47 बंदूक थी।

लोगों का कहना- पदबेड़ा की ओर से आई थी गाड़ी
- मृतक के घर के निकट रहने वाले कुछ लोगों ने बताया रात में पदबेड़ा की ओर से चार पहिया वाहन आने की आवाज आई थी। लेकिन नक्सल दहशत के चलते कोई भी बाहर नहीं निकला। वारदात के बाद वाहन उसी ओर से वापस लौट गई।

- मृतक के परिजन भी घटना के दौरान चार पहिया वाहन आने की बात कह रहे हैं। वाहन कौन-सा था और किसका था यह साफ नहीं हो पाया है।

एक ही परिवार में हुई तीसरी हत्या
- ताड़ो की के ध्रुव परिवार में यह तीसरी हत्या है। मृतक के चचेरे भाई व पूर्व सरपंच मेघनाथ ध्रुव की पांच साल पूर्व गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके एक साल बाद मृतक के भतीजे राजकुमार ध्रुव की नक्सलियों ने हत्या की थी। इसके बाद शनिवार को बेलुराम ध्रुव की हत्या की।

बेलूराम को थी हत्या की आशंका
- बताया जा रहा है कि बेलूराम गांव छोड़ने की कोशिश में था। यहां से वह अपने साइकिल की दुकान ताड़ोकी के कलेंद्र नगर में शिफ्ट करने वाला था। इसके लिए वह दुकान बनाने जगह देखकर उसका निर्माण भी शुरू कर दिया था। माना जा रहा है उसे नक्सलियों द्वारा हत्या करने की भनक लग गई थी।

6 साल पहले भी नक्सलियों ने किया था अपहरण

- नक्सलियों के खिलाफ काम करने का आरोप लगने पर मृतक के बड़े भाई फूलसिंह व तुरसिंह पर जब खतरा मंडराया था तो उन्होंने 2004 में सरंडी छोड़ दिया था। इसके बाद बेलूराम भी 2005 में गांव छोड़ कर भानुप्रतापपुर व ताड़ोकी में रहने लगा था।

- 2011 में वह वापस ताड़ोकी पहुंचकर उसने साइकिल की दुकान खोली थी। इसी दौरान नक्सली उसका अपहरण कर ले गए थे। 12 दिन तक अपने कब्जे में रखने के बाद उसे छोड़ दिया था।

बर्रेबेड़ा में गाड़ा रेडीमेड स्मारक

- नक्सलियों ने बर्रेबेड़ा में सांसद विक्रम उसेंडी के मकान के कुछ दूरी पर बड़ी संख्या में बैनर बांधा है। इसके साथ ही वहां पर तीन फुट ऊंचा लकड़ी का स्मारक भी गाड़ा है। दोनों जगह बैनर किसकोड़ो एरिया कमेटी ने बांधा है।

एसडीओपी बोले- किसकोड़ो एरिया कमेटी का हाथ

- अंतागढ़ एसडीओपी पुप्लेश कुमार पात्र ने बताया नक्सलियों ने सरंडी में ग्रामीण की गला रेत कर हत्या कर दी है। इसमें किसकोड़ो एरिया कमेटी के नक्सलियों का हाथ है, जिसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वारदात में वाहन के शामिल होने की बात आ रही है, जिसकी जांच जारी है।

X
Naxalites cut off the thug of the policeman brother
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..