--Advertisement--

साथी नक्सलियों की बरात में आए थे 150 माओवादी, ग्रे-हाउंड टीम ने 9 को मार गिराया

शादी भी किसी ग्रामीण की नहीं बल्कि उनके संगठन के लिए काम करने वाले नक्सली जोड़े की थी।

Dainik Bhaskar

Mar 05, 2018, 03:02 AM IST
मारे गए नक्सलियों में  ज्यादातर छत्तीसगढ़ के। मारे गए नक्सलियों में ज्यादातर छत्तीसगढ़ के।

बीजापुर. तेलंगाना-छत्तीसगढ़ बॉर्डर पर शुक्रवार को एनकाउंटर का जबरदस्त ऑपरेशन पूरा करते हुए तेलंगाना और छत्तीसगढ़ी की फोर्स ने दस नक्सलियों को मार गिराया है। एनकाउंटर के लिए तेलंगाना से ग्रे-हाउंड फोर्स के स्पेशल कमांडो पहुंचे थे। ग्रे-हाउंड को खबर मिली थी कि बॉर्डर के इलाके में बड़ी संख्या में नक्सली एक शादी के समारोह में शामिल होने पहुंचे हैं। शादी भी किसी ग्रामीण की नहीं बल्कि उनके संगठन के लिए काम करने वाले नक्सली जोड़े की थी। इधर इस घटना के बाद से तेलंगाना और छत्तीसगढ़ पुलिस ने जंगल में डीवीसी मेंबर पापाराव के लिए सर्च अभियान तेज कर दिया है। पुलिस के मुताबिक पापाराव को गोली लगी है और वो ज्या दूर भाग नहीं सकता है।

घर न बसाने की शर्त पर मिली थी शादी की इजाजत

नक्सलियों ने सालों बाद किसी जोड़े को शादी की अनुमति इस शर्त पर दी थी कि वे अपना घर नहीं बसाएंगे। ऐसे में ये तय हो गया था कि इस शादी के जश्न में शामिल होने के लिए कई बड़े नक्सली पहुंचेंगे। इनमें बड़ी संख्या में तेलंगाना इलाके में सक्रिय नक्सली शामिल होंगे। यही कारण था कि ग्रे-हाउंड ने छत्तीसगढ़ में ऑपरेशन प्लान किया और छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ मिलकर 2 मार्च की अलसुबह 4 बजे ही नक्सलियों को पेदाउटलापल्ली की पहाड़ी पर घेर लिया।

वापसी के एक घंटे पहले किया हमला
लच्छना और सुशीला की शादी में शामिल होने नक्सली 27 तारीख से कर्रीगुड़ा आने लगे थे। 28 फरवरी को शादी के बाद देर रात तक जश्न चला। एक मार्च की रात में नाच-गाना हुआ। इसके बाद नक्सली पेदाउटलापल्ली की पहाड़ियों पर चले गए। निकलने से पहले ही फोर्स पहुंच गई। सुबह 4 बजे शुरू हुई मुठभेड़ साढ़े 10.30 बजे तक चली।

लैपटाॅप उगलेगा कई राज
पुलिस ने घटनास्थल से तीन लैपटाप बरामद किए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि इनमें से एक लैपटाॅप सेंट्रल कमेटी के मेंबर हरिभूषण का है। ऐसे में पुलिस को उम्मीद है कि उसके लैपटाप से कई नए कनेक्शन का खुलासा होगा।

पापाराव की तलाश तेज
पुलिस के मुताबिक डीवीसी मेंबर पापाराव को गोली लगी है। उसे घायल अवस्था में देखा गया था। अब तेलंगाना पुलिस और छग की फोर्स उसकी तलाश में है। उसका इलाज होने से पहले ही उसे दबोचने की रणनीति है। पुलिस के मुताबिक जहां एनकाउंटर हुआ है उससे महज 2 किमी दूर पर तेलंगाना बार्डर है।

- ऐसे में पापाराव उधर की ओर रुख कर सकता है। ध्यान देने वाली बात है कि इससे पहले भी एक बार पापाराव को मुठभेड़ में गोली लग चुकी है। उसबार भी वो भाग निकला था और बच गया था।

मारे गए नक्सलियों में ज्यादातर छत्तीसगढ़ के

एनकाउंटर में ज्यादातर बस्तर में सक्रिय नक्सली ही मारे गए हैं। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि जो नक्सली मारे गए वे बड़े नक्सलियों की सुरक्षा में लगे थे। मारे गए नक्सलियों में कोई बड़ा नाम शामिल नहीं है। मारे गए नक्सलियों के नाम इस प्रकार हैं।
- दादा बोइना स्वामी उर्फ प्रभाकर डीसीएम सीआरबी प्रेस
- इथू - तिप्पापुरम दलम मेंबर
- बुदरी निवासी सिंगम दलम मेंबर, रामे -वीरापुरम सुकमा
- सीआरबी डाॅक्टर्स टीम एसीएम, मल्लेश
- इंद्रावती सीजी सीआरसी
- ए सेक्शन कमांडर
- कमला- वेस्ट बस्तर दलम मेंबर
- कोसी-रंगई कुड़ेम सीआरसी दलम मेंबर
- सुक्की- गंगालूर दलम मेंबर
- रत्ना- बीजापुर दलम मेंबर
- साेंबी- दलम मेंबर

कई हथियार मिले
पुलिस ने यहां से 41 हजार नकद के साथ-साथ एक एके 47, पांच इंसास, एक एसएलआर, एक थ्री नाॅट थ्री, दो सिंगल बोर राइफल, एक पिस्टल, एक सोनी वायरलेस सेट बरामद किया है।

चेरला एरिया कमेटी के कमांडर लच्छना और सुशीला की शादी में पहुंचे थे

चेरला एरिया कमेटी के कमांडर लच्छना और इसी एरिया कमेटी की सदस्य सुशीला का विवाह 28 फरवरी को तय किया गया था। इनकी शादी को सीपीआई माओवादी से हरी झंडी मिली थी। इन दोनों की शादी तय तारीख पर कर्रीगुड़ा के निकट हुई। इसी समारोह में शामिल हाेने 150 नक्सली आए थे, इनमें करीब 70 बड़े लीडर थे। इनमें सबसे बड़ा लीडर सेंट्रल कमेटी का मेंबर हरिभूषण था। वह शादी के दौरान हर रस्म में शामिल हुआ। इसके अलावा तेलंगाना स्टेट कमेटी का पूर्व सचिव चंद्रन्ना, तेलंगाना स्टेट कमेटी का मेंबर जूनियर आजाद, तेलंगाना स्टेट कमेटी की मेंबर शारदक्का और उसका पति दक्षिण बस्तर डिवीजनल कमेटी मेंबर दामोदर, डीवीसी मेंबर पापाराव जैसे नक्सली यहां जमा हुए थे।

गढ़चिरौली में नक्सलियों ने किया विस्फोट, दो पुलिसकर्मी घायल

- इधर रविवार को गढ़चिरौली में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट करा दिया।

- इसमें महाराष्ट्र पुलिस का एक अधिकारी और एक हवलदार गंभीर रूप से घायल हो गए।

- जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र पुलिस पार्टी गश्त कर लौट रही थी। उसी दौरान कोरची पकनाभट्टी के पास पार्टी की नजर नक्सलियों द्वारा लगाए गए एक बैनर पर पड़ी। उसी बैनर को निकालने के दौरान ही विस्फोट हुआ। दरअसल विस्फोटक बैनर के नीचे ही लगाया गया था।

- इस घटना में एएसआई अतुल तावाड़े और एक हवलदार राजेश चाबर गंभीररूप से घायल हो गए। इन्हें तुरंत हेलीकॉप्टर से नागपुर ले जाया गया। वहीं इस घटना के बाद पुलिस ने पूरे इलाके में सर्चिंग और तेज कर दी है।

एनकाउंटर के बाद बरामद हथियार। एनकाउंटर के बाद बरामद हथियार।
X
मारे गए नक्सलियों में  ज्यादातर छत्तीसगढ़ के।मारे गए नक्सलियों में ज्यादातर छत्तीसगढ़ के।
एनकाउंटर के बाद बरामद हथियार।एनकाउंटर के बाद बरामद हथियार।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..