न्यूज़

--Advertisement--

IAS और IPS की बढ़ सकती है रिटायरमेंट उम्र, कैंद्र ने राज्य सरकारों से मांगी राय

राज्यों ने डॉक्टरों और प्रोफेसरों का रिटायरमेंट एज 62 कर दिया है और अब 65 करने की तैयारी।

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 08:20 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर. आईएएस, आईपीएस, आईएफएस समेत ऑल इंडिया सर्विसेज के अफसरों का रिटायरमेंट की उम्र 60 से 62 साल हो सकता है। प्रधानमंत्री के सीधे अधिकार वाला केंद्रीय लोक कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) इस पर गंभीरता से विचार कर रहा है। उसने राज्यों से भी सहमति मांगी है।

आम चुनावों से पहले विकास कार्यों की मानिटरिंग पर सीधा असर पड़ेगा

- हालांकि, 2015 में यूपीए सरकार ने भी सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ाने की कवायद शुरू की थी, मगर चुनाव बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। पर अब बदली परिस्थितियों में इस साल बड़ी संख्या में ऑल इंडिया सर्विस के अफसर रिटायर होने वाले हैं।

- इससे अगले साल चुनाव वाले पांच राज्यों के साथ 2019 के आम चुनावों से पहले विकास कार्यों की मानिटरिंग पर सीधा असर पड़ेगा। इसे देखते केंद्र ने एक्सटेंशन प्लान पर रायशुमारी तेज कर दी है।

छत्तीसगढ़ के कई नौकरशाहों को तात्कालिक लाभ मिलेगा

- यहां बता दे कि इससे पहले केंद्र और राज्यों ने डॉक्टरों और प्रोफेसरों का रिटायरमेंट एज 62 कर दिया है। और अब 65 करने की तैयारी चल रही है। ब्यूरोक्रेट्स इसे भी एक आधार बना रहे हैं।

- राज्यों से सहमति मिलने के बाद इसे नए फाइनेंशियल इयर यानि 1 अप्रैल से लागू किया जा सकता है। एेसे में छत्तीसगढ़ के कई नौकरशाहों को तात्कालिक लाभ मिलेगा।

- इनमें मुख्य सचिव विवेक ढांड का मार्च-18 और पीसीसीएफ आरके सिंह का ईयर एंड में रिटायरमेंट है। ढांड को तभी लाभ मिलेगा जब केंद्र एक्सटेंशन की अवधि पहली जनवरी से तय करे। वहीं, आईपीएस में अगले साल किसी का रिटायरमेंट नहीं है। डीजीपी एएन उपाध्याय 2019 में रिटायर होने वाले हैं।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Click to listen..