--Advertisement--

स्कूल गर्ल को मारने इंस्टाग्राम पर बनाया ग्रुप, साथी स्टूडेंट ने रची बड़ी साचिश

पकड़े गए मैसेजेस में एक यह भी है कि स्टूडेंट्स ने हमले के लिए उस जगह को चुना, जहां सीसीटीवी कैमरा खराब है।

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2018, 06:57 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर(छत्तीसगढ़). राजधानी के एक नामी स्कूल में 13 साल की एक लड़की से बदला लेने के लिए उसके हमउम्र साथी स्टूडेंट्स ने उस पर हमले की साजिश रच डाली, वह भी इंस्टाग्राम पर। बदले पर उतारू स्टूडेंट्स ने इसके लिए बाकायदा ग्रुप बनाया। इस ग्रुप में डिस्कशन हुआ कि लड़की पर हमला कहां और कैसे करना है। पकड़े गए मैसेजेस में एक यह भी है कि स्टूडेंट्स ने हमले के लिए उस जगह को चुना, जहां सीसीटीवी कैमरा खराब है। इससे पहले यह हमला हो पाता, लड़की और उसके परिवार को भनक लग गई।

इंस्टाग्राम पर बनाया ग्रुप और रची साजिश

जानकारी के मुताबिक 13 साल की दीपा (बदला हुआ नाम) आठवीं की स्टूडेंट लड़की है। उस पर हमला करने के लिए कुछ साथियों ने ही इंस्टाग्राम पर कुछ दिन पहले ग्रुप बनाया। इसके बाद ग्रुप में यह जानकारियां शेयर की जाने लगीं कि दीपा कब स्कूल आती-जाती है, बाहर कहां आना-जाना है और स्कूल कैम्पस में कहां हमला करेंगे तो फंसने का डर है। लंबे-चौड़े डिस्कशन के बाद तय हुआ कि स्कूल का जो सीसीटीवी कैमरा खराब है, वहां हमला कर सकते हैं।

ऐसे मिली लड़की को उसपर होने वाले हमले की खबर

ग्रुप में यह साजिश चल रही थी, तभी दीपा को एक फेक एकाउंट से सूचना मिली कि उस पर हमला होने वाला है। दीपा ने यकीन नहीं किया और सबूत मांगा। इसके बाद एक अन्य नंबर उसी ग्रुप में एड कर दिया गया, जो दीपा से संबंधित था। इस ग्रुप में एड होते ही जिस तरह के मैसेज आने लगे, उसे पढ़कर दीपा और परिजनों के होश उड़ गए। उसके पिता ने तुरंत पुलिस से संपर्क किया। पुलिस ने साइबर एक्सपर्ट्स की मदद से इंस्टाग्राम ग्रुप के सारे मैसेज पढ़कर पूरा मामला समझा और इस तरह हमला नाकाम हुआ।

साजिश में लड़कों के साथ लड़कियां भी शामिल

इंस्टाग्राम में बच्चों के ग्रुप में हुए चैट का स्क्रीनशाट साइबर पुलिस ने ले लिया है। चैट बहुत लंबी है। वजह अब तक सामने नहीं आई है, लेकिन पुलिस को संकेत मिले हैं कि इसमें लड़के और लड़कियां, दोनों शामिल हैं। चूंकि सभी कम उम्र हैं, इसलिए उनकी और स्कूल की पहचान नहीं दी जा रही है।

स्कूल ने झाड़ लिया पल्ला

चर्चा है कि दीपा के पिता और पुलिस ने इस मामले में स्कूल प्रबंधन को कुछ संदिग्ध स्टूडेंट्स के नाम बताए। पुलिस ने इस घटना के आधार पर स्कूल में बच्चों के लिए साइबर क्राइम पर वर्कशॉप और काउंसिलिंग रखने की बात कही तो स्कूल ने पूरे मामले से पल्ला झाड़ लिया।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..