--Advertisement--

मां-बाप के हत्यारे को पकड़ने पुलिस ने किया इंतजार, ऐसे हुअा मामले का पर्दाफाश

निंग के तहत अंजाम दी गई वारदात के बाद उसने पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश भी की थी।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 05:20 AM IST
मां-पिता का हत्यारा बेटा संदीप जैन। मां-पिता का हत्यारा बेटा संदीप जैन।

भिलाई(छत्तीसगढ़). शहर में हुए डबल मर्डर केस का पर्दाफाश पुलिस और फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स की टीम ने कुछ ही घंटों में कर दिया। इस हाई प्रोफाइल मर्डर केस का इतनी जल्दी खुलासा चर्चा में रहा। दरअसल कर्ज में डूबे बेटे का जब पिता ने पैसे देने से इनकार किया तो उसने पिता की गोली मारकर जान ले ली। जब उसे लगा कि मां उसके इस गुनाह को सबके सामने जाहिर कर देगी तो उसे भी गोली मार दी। प्लानिंग के तहत अंजाम दी गई वारदात के बाद उसने पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश भी की थी। पुलिस ने मृतक पति-पत्नी के अंतिम संस्कार का इंतजार करने के बाद ही मामले का खुलासा किया। जानिए कैसे हुआ पूरे घटनाक्रम का पर्दाफाश...

1. फॉरेंसिक एविडेंस

घटना के बाद फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम घर पहुंची। पिस्टल से लेकर दूसरी जगहों में संदीप के फिंगरप्रिंट मिले। संदीप के कमरे की खिड़की के ठीक नीचे खड़ी गाड़ी पर पिस्टल और नीचे कमरे की खिड़की के छज्जे पर लोडेड मैगजीन बरामद हुई। इसने पूरी कहानी की चुगली कर दी।

2. CCTV फुटेज

मृतक के घर के सामने प्रीति ज्वैलर्स की दुकान में CCTV कैमरा लगा था। पुलिस ने सुबह 4 से लेकर 6 बजे तक का CCTV फुटेज खंगालना शुरू किया। CCTV फुटेज में उस दौरान एक भी आदमी आता-जाता दिखाई नहीं दिया।

3. संदीप घर में ही था

घटना के वक्त आरोपी संदीप घर पर ही था। जब पुलिस ने पूछताछ की तो उसने झूठ बोला कि उसने गोली की आवाज नहीं सुनी। इस बात पर पुलिस को शक हुआ।

4. मोबाइल फोन रिसीव नहीं किया

मां ने संदीप को भी सुबह फोन किया था। लेकिन उसने रिसीव नहीं किया। फिर पुलिस ने जिससे पूछा-उसने बताया कि बाप बेटे में विवाद चल रहा था।

5. पुलिस ने भरोसे में लेकर पूछताछ की, वीडियो भी बनाया
- पुलिस अफसर के मुताबिक, संदीप जैन, सौरभ और गार्ड रोहित देशमुख से पुलिस ने शुरुआती तौर पर पूछताछ की तो रोहित देशमुख ने बताया कि संदीप उसे कल ना आने की बात कहकर छुट्टी दे दिया था।

- इस पर पुलिस ने संदीप से पूछताछ करना शुरू कर दी। पुलिस अफसरों ने उसे भरोसे में लिया कि वह उसे बचा लेंगे। तब आरोपी ने घटना के बारे में बताना शुरू कर दिया। इस दौरान आरोपी बदल ना जाए इसके लिए एसपी और एएसपी ने आरोपी का स्टिंग कर पुख्ता होने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया।

पत्नी को 2 दिन पहले मायके भेज गार्ड को दे दी थी छुट्टी

- आरोपी के घर में सिक्युरिटी के लिए दो गार्ड थे। दोनों 15-15 दिन मिलकर ड्यूटी करते थे। आरोपी ने गार्ड को रविवार की रात ड्यूटी पर आने के लिए मना कर दिया था। इसका खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने गार्ड पर शक कर पूछताछ की तो उसने बताया कि आरोपी संदीप जैन उसे छुट्टी दी थी।

- आरोपी ने पिता की हत्या करने के लिए पूरी तरह से प्लान बना लिया था। वारदात को अंजाम देने के लिए अपनी पत्नी और बेटे को 27 दिसंबर को पत्नी के मायके भेज दिया था। जिससे उसे किसी प्रकार की रुकावट ना आने पाए और वह आसानी से वारदात को अंजाम दे सके।

कभी वायदा कारोबार तो कभी कवि बनने की सनक

आरोपी संदीप को जानने वाले कई लोगों ने भास्कर को बताया कि पिता उसे बार बार समझाते थे। संदीप वायदा कारोबार में पहले ही करोड़ों डुबा चुका था। बाकी जगह भी पैसे डूब रहे थे। पिता इसे लेकर परेशान थे। संदीप को इससे चिढ़ थी।

पूरे देश में घूमे, नगपुरा तीर्थ के लिए फंड इकट्‌ठा किया

- रावल मल जैन मूल रूप से साजा से आते हैं। उनके पिता का अनाज की खरीदी-बिक्री का कारोबार था। 1 जनवरी को ही उनका 75 वां जन्मदिन था। 1979 में उन्होंने नगपुरा में पार्श्वनाथ तीर्थ की स्थापना की।

- उन्होंने प्राचीन प्रतिमाओं का संग्रहण कर नगपुरा को जैन तीर्थ तक का सफर तय किया। आज पूरी दुनिया में नगपुरा एक जैन तीर्थ के तौर पर विख्यात है। रावलमल ने करीब 108 किताबें भी लिखी।

- दिवंगत रावलमल के देश के बड़े इंडस्ट्रीयलिस्ट गौतम अडानी से सीधे रिश्ते रहे। अडानी के पिता शांतिलाल जैन के नाम पर ही नगपुरा तीर्थ में प्राकृतिक चिकित्सालय व कॉलेज का संचालन हो रहा। गौतम अडानी भी इसके ट्रस्टी हैं।

- सीएम डॉ. रमनसिंह ने उनके निधन पर कहा कि नगपुरा तीर्थ को संवारने और आगे बढ़ाने में रावलमल का योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने प्राकृतिक चिकित्सालय, जैन गुरुकुल की स्थापना की। चिकित्सालय में आज भी जहां मरीजों का इलाज काफी कम फीस पर किया जा रहा। बच्चों को गुणवान और संस्कारवान बनाने में योगदान दिया।

मामले में बरामद पिस्टल की जांच करती पुलिस अौशर फॉरेंसिक टीम। मामले में बरामद पिस्टल की जांच करती पुलिस अौशर फॉरेंसिक टीम।
रावलमल जैन और उनका परिवार समाज में काफी प्रतिष्ठित था। रावलमल जैन और उनका परिवार समाज में काफी प्रतिष्ठित था।
सीएम रमन सिंह भी रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी की अंत्येष्टि में शामिल हुए। सीएम रमन सिंह भी रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी की अंत्येष्टि में शामिल हुए।
अपने ही बेटे के हाथों जान गंवाने वाले रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी। अपने ही बेटे के हाथों जान गंवाने वाले रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी।
हत्या की खबर मिलते ही रावलमल जैन के घर के आसपास लोगों की भीड़ लग गई। हत्या की खबर मिलते ही रावलमल जैन के घर के आसपास लोगों की भीड़ लग गई।
X
मां-पिता का हत्यारा बेटा संदीप जैन।मां-पिता का हत्यारा बेटा संदीप जैन।
मामले में बरामद पिस्टल की जांच करती पुलिस अौशर फॉरेंसिक टीम।मामले में बरामद पिस्टल की जांच करती पुलिस अौशर फॉरेंसिक टीम।
रावलमल जैन और उनका परिवार समाज में काफी प्रतिष्ठित था।रावलमल जैन और उनका परिवार समाज में काफी प्रतिष्ठित था।
सीएम रमन सिंह भी रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी की अंत्येष्टि में शामिल हुए।सीएम रमन सिंह भी रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी की अंत्येष्टि में शामिल हुए।
अपने ही बेटे के हाथों जान गंवाने वाले रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी।अपने ही बेटे के हाथों जान गंवाने वाले रावलमल जैन और उनकी पत्नी सुरजी देवी।
हत्या की खबर मिलते ही रावलमल जैन के घर के आसपास लोगों की भीड़ लग गई।हत्या की खबर मिलते ही रावलमल जैन के घर के आसपास लोगों की भीड़ लग गई।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..