--Advertisement--

पैसे लेकर जनरल टिकट पर सीट देने पर होगी सख्ती, रेलवे को लगी 150 करोड़ की चपत

रेलवे बोर्ड ने शुरू की मुहिम, यात्री हेल्पलाइन नंबर-155210 पर कर सकते हैं शिकायत।

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2018, 09:27 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रायपुर. ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों से पैसा लेकर बर्थ देने को लेकर अब रेलवे सख्ती बरतने जा रहा है। वेटिंग और आरएसी टिकट वालों को कंफर्म सीट न देकर पैसे लेकर जनरल टिकट वालों को टीटीई पैसा लेकर दे देते हैं। इससे जहां ट्रेन में यात्रा करने वाले दूसरे और जरूरतमंद यात्री परेशान होते हैं तो रेलवे को भी भारी नुकसान सहना पड़ता है। इस सिस्टम पर लगाम लगाने के लिए अब बड़े पैमाने पर अभियान चलाने की तैयारी है। इसे लेकर अब यात्रियों की शिकायत पर ऐसे करने वालों पर सीधे कार्रवाई होगी।

रेलवे को सालाना करीब 150 करोड़ रुपए का नुकसान
- विजिलेंस की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि बड़े पैमाने पर यात्री जरनल टिकट लेकर स्लीपर एवं एसी क्लास में सफर करते हैं। टिकट देने के नाम पर टीटीई और रेलवे स्टॉफ द्वारा पैसा लिया जाता है, जो रेलवे के खजाने में न जाकर उनकी जेब में जाता है। विजिलेंस रिपोर्ट के अनुसार इससे रेलवे को सालाना करीब 150 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है। साथ ही इस सिस्टम से वेटिंग और आरएसी टिकट वाले यात्रियों को बर्थ नहीं मिल पा रहा है। विजिलेंस अफसरों का कहना है कि अतिरिक्त पैसा देकर बर्थ लेने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

- इसे लेकर अब बिलासपुर जोन ने ट्रेन में चलने वाले टीटीई पर छापेमार कार्रवाई के लिए बड़े स्तर पर योजना बनाई है। इसमें लोगों की मदद मांगी गई है। ट्रेन में यात्रा के दौरान अगर कोई टीटीई और रेलवे स्टाॅफ बर्थ देने के नाम पर अवैध राशि की मांग करता है, तो यात्री हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत कर सकते हैं। रेलवे बोर्ड ने इस संबंध में सर्कुलर जारी करते हुए सभी जोन व मंडलों को तुरंत ही चेकिंग अभियान चलाने कहा गया है। विजिलेंस, आरपीएफ और कमर्शियल की टीम को अभियान चलाने कहा गया है।

अधिक पैसे के साथ पकड़ा गया टीटीई
13 जनवरी को बिलासपुर-तिरुपति एक्सप्रेस में विजिलेंस की छापेमारी में ड्यूटी पर टीटीई के पास से अतिरिक्त राशि मिली। इसके अलावा अन्य कई ट्रेनों में भी टीटीई द्वारा यात्रियों से अवैध वसूली करने का मामला सामने आया है। बिलासपुर जोन से मिली जानकारी के अनुसार दो दर्जन से अधिक टीटीई और रेलवे स्टाॅफ पर अवैध वसूली का आरोप है। इसकी जांच चल रही है। इसमें रायपुर, बिलासपुर और नागपुर मंडल के रेलकर्मी शामिल हैं। अब विजिलेंस की टीम इस पर ही फोकस कर रही है।

विज्ञापन से कररेंगे सचेत, निगरानी भी
पैसे देकर बर्थ लेने की आदत पर रोक लगाने रेलवे प्रशासन यात्रियों को जागरुक करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए जगह-जगह विज्ञापन व पोस्टर लगाए जाएंगे। साथ ही स्टेशनों में अनाउंसमेंट कर सचेत करेंगे। हेल्पलाइन नंबर को लोगों तक पहुंचाने के लिए बड़े स्तर पर प्रचारित किया जाएगा, ताकि यात्री इस नंबर को मोबाइल में सेव कर रखें।

शिकायत होते ही होगी कार्रवाई
बर्थ के लिए पैसे मांगने और अन्य शिकायत टोल फ्री नंबर 155210 पर यात्री भेज सकते हैं। एसएमएस और वीडियो बनाकर भी कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर को बिलासपुर जोन मुख्यालय से मॉनीटरिंग कर संबंधित रेल मंडल को जोड़ा गया है। शिकायत मिलने के बाद टीटीई की डिटेल लेकर मंडल की टीम को मौके पर पहुंचेगी।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..