--Advertisement--

चावल की शराब पीने से 2 कोरवा आदिवासियों समेत 3 की मौत, 12 की हालत गंभीर

करीब 5 दिन पहले मजदूरों को हड़िया शराब बनाने के लिए करीब 50 किलो चावल दिया था।

Dainik Bhaskar

Jan 28, 2018, 09:06 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

जशपुरनगर(छत्तीसगढ़). नारायणपुर थाने के साहीडांड़ में विषाक्त हड़िया (चावल की शराब) पीने से तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 की हालत गंभीर बताई जा रही है। मरने वालों में दो कोरवा आदिवासी भी शामिल हैं। मामले की सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है।

शराब बनाने करीब 50 किलो चावल दिया था

- जानकारी के मुताबिक घटना दर्रीटोली बस्ती में पूर्व डीडीसी दिलधरन राम नगेशिया के तालाब का गहरीकरण हो रहा है। उसने करीब 5 दिन पहले मजदूरों को हड़िया शराब बनाने के लिए करीब 50 किलो चावल दिया था।

- शराब बंधन राम के यहां बनाई गई थी। शुक्रवार को सारे मजदूरों ने काम पूरा होने के बाद बंधन राम के यहां पहुंचे और जमकर हड़िया शराब पी। हड़िया पीने के बाद मजदूरों की तबीयत बिगड़ी। उन्हें उल्टियां आने लगीं।

- इसकी सूचना मिलने पर समाज के संरक्षक एवं जिला पंचायत उपाध्यक्ष प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने बगीचा बीएमओ को घटना की सूचना दी। सूचना मिलते ही बीएमओ ने एंबुलेंस भेजकर सभी बीमार मजदूरों को अस्पताल पहुंचाया, जहां से दो की स्थिति गंभीर होने के कारण उन्हेंं अंबिकापुर के लिए रेफर कर दिया गया।

- रास्ते में उनकी तबीयत बिगड़ने पर उन्हें बतौली के अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां दोनों की मौत हो गई। इसी बीच बगीचा के अस्पताल में भी एक व्यक्ति की मौत हो गई।

हाथ से बनी शराब पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी
छत्तीसगढ़ सरकार अब हड़िया शराब बैन करने की तैयारी में है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शनिवार को यहां एक सवाल के जवाब में कहा कि हाथ से बनी शराब को प्रतिबंधित किया जाएगा। हम जन जागरूकता लाने की भी कोशिश कर रहे हैं।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..