--Advertisement--

116 किलो चांदी से बना माता का सिंहासन पहुंचा सम्लेश्वरी मंदिर

मां सम्लेश्वरी की भव्य मंदिर प्रतिष्ठा उत्सव का आयोजन 2 फरवरी से किया गया है। आयोजन को लेकर 1 फरवरी को श्रद्धालुओं...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
मां सम्लेश्वरी की भव्य मंदिर प्रतिष्ठा उत्सव का आयोजन 2 फरवरी से किया गया है। आयोजन को लेकर 1 फरवरी को श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाए गए 116 किलो चांदी से निर्मित माता की भव्य सिंहासन को शहर में बाजे गाजे के साथ शोभायात्रा के जरिए मंदिर पहुंचाया गया। शोभायात्रा धर्मशाला चौक से निकलकर लेंगु मिश्र चौक, थाना चौक होते हुए सम्लेश्वरी मंदिर पहुंची।

शुक्रवार सुबह 8:30 बजे त्रिवेणी संगम से लाई गई पवित्र गंगाजल द्वारा पूर्ण कुंभ कलश यात्रा जर्ज हाई स्कूल मैदान से निकलकर गौउर पाडा चौक, एसपी ऑफिस चौक, काली मंदिर चौक, थाना चौक से होते हुए समलेश्वरी मंदिर सिंह द्वार में प्रवेश कर मंदिर निकट रहे खारुआ बाबा मठ यज्ञ में पहुंचेगी, जहां विश्व शांति के लिए पंच कुंडीय महायज्ञ का आयोजन किया गया है।

बरगढ़| 116 किलो चांदी से निर्मित माता का भव्य सिंहासन को शहर में बाजे गाजे के साथ शोभायात्रा के जरिए मंदिर पहुंचाया गया।

कार्यक्रम तक वाहनों की आवाजाही प्रतिबंध

आयोजित कार्यक्रमों के अंतिम दिवस तक उक्त सभी रास्तों पर वाहनों को प्रतिबंध लगाया गया है। श्रद्धालुओं का सुरक्षा को ध्यान रखते हुए चारों तरफ सीसी कैमरा लगाया जाएगा। इसी तरह सम्लेश्वरी कल्याण मंडप परिसर पर तथा लोक मंडप मैदान में प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

कलश यात्रा में 2500 महिलाएं शामिल होंगी

कार्यक्रम में ओडिशा तथा बाहरी राज्य से विभिन्न तरह 14 वाद्य पार्टी शामिल होंगे। कलश शोभायात्रा में 2500 से अधिक महिलाएं जलकुंड लेकर शामिल होंगे। इसी तरह 3 फरवरी को यज्ञ आरंभ, 5 फरवरी पुरी गोवर्धन पीठाधीश जगतगुरु शंकराचार्य सम्लेश्वरी देवी का आरती करेंगे, सम्लेश्वरी कल्याण मंडप परिसर पर प्रवचन, 7 फरवरी ध्वज कुंभ स्थापना एवं समापन किया जाएगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..