--Advertisement--

शेर की खाल मिलने के बाद जांच के लिए पहुंचे अधिकारी

News - 14 फरवरी को मैनपुर से महज 16 किलोमीटर दूर जरण्डी नाला में बाघ की खाल तस्करी करते क्राइम ब्रांच की टीम ने दो युवकों को...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:55 AM IST
शेर की खाल मिलने के बाद जांच के लिए पहुंचे अधिकारी
14 फरवरी को मैनपुर से महज 16 किलोमीटर दूर जरण्डी नाला में बाघ की खाल तस्करी करते क्राइम ब्रांच की टीम ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है। क्षेत्र में बाघ की खाल मिलने से वन विभाग में हड़कंप मच गया है और वन विभाग के अधिकारी लगातार क्षेत्र का दौरा कर मामले की जांच में लगे हुए हैं, वहीं राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण दिल्ली द्वारा भी पड़ताल प्रारंभ कर दी गई है।

मंगलवार को मैनपुर में नेशनल टाईगर रिजर्व के रीजनल आॅफिस नागपुर के सहायक निरीक्षक जनरल आॅफ फाॅरेस्ट हेमंत भास्कर मैनपुर पहुंचकर इस पूरे मामले की जहां जानकारी एकत्र करते रहे। वहीं उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के उदंती अभयारण्य व तौरेंगा जंगल क्षेत्र का दौरा कर बाघ सुरक्षा संरक्षण व संवर्धन के लिए जारी की गई राशियों के उपयोग के बारे में जानकारी ली। जंगल के भीतर बाघ संरक्षण के दिशा में क्या कार्य किया गया है उक्त कार्यों का निरीक्षण अधिकारियों के साथ किया। सहायक निरीक्षक जनरल आॅफ फाॅरेस्ट हेमंत भास्कर ने बताया कि मैनपुर में जब्त खाल की फोटोग्राफ लेकर इसे देहरादून टाईगर के सेल में भेजेंगे, जहां पर पूर्व में टैप कैमरे में आये बाघ की छात्राचित्र से विशेषज्ञ मिलान करेंगे।

इसके साथ यह तय हो जायेगा की उक्त बाघ कहां का था, उच्च विभाग दिल्ली से उन्हे निर्देश मिला है कि वह मैनपुर गरियाबंद पहुंचकर खाल की समूचित जांच करें और वे पूरे मामले की जानकारी एकत्र कर उन्हे भेजें। इस दौरान उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के उप निदेशक विवेकानंद रेड्ड, डब्ल्यूटीआई नई दिल्ली के डाॅ. आरपी मिश्रा व स्थानीय स्टाफ उपस्थित था।

अफसराें ने किया टाइगर रिजर्व क्षेत्र का दौरा

X
शेर की खाल मिलने के बाद जांच के लिए पहुंचे अधिकारी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..