--Advertisement--

लोगों की जुबान पर चढ़ता बिहार के लिट्‌टी-चोखे का स्वाद

बिहार का खाना-पान का जिक्र होते ही सबसे पहले लिट्‌टी-चोखा का नाम जुबान पर आता है। इस लिजिज डिश का स्वाद रायपुरियंस...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
बिहार का खाना-पान का जिक्र होते ही सबसे पहले लिट्‌टी-चोखा का नाम जुबान पर आता है। इस लिजिज डिश का स्वाद रायपुरियंस भी लेने लगे है। एक के बाद एक शहर के चारों दिशाओं में लिट्‌टी चोखा सेंटर खुल रहा है। इसी तरह पंडरी के राजेश लिट्‌टी सेंटर में भी हर रोज इस लिजि व्यंजन का लुप्त लेने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। लिट्‌टी को देशी घी और तेल दोनों तरीके से बनाया जाता है। अब घरों के अलावा शादी वाले घरानों में लिट्‌टी चोखा की डिश रखने के लिए डिमांड किया जाने लगा है।

इन जगहों पर खुले लिट्‌टी सेंटर







तीन घंटे में 300 लिट्‌टी की बिक्री, घी वाली की मांग ज्यादा

इधर, राजेश लिट्‌टी सेंटर के राजेश बताते हंै कि हर रोज 300 से ज्यादा लिट्‌टी बिक रहा है। तीन घंटे में 300 से ज्यादा लिट्‌टी बिक जाती है। ज्यादातर युवा इसे पंसद करते है। यूपी, बिहार जैसी भट्‌ठी में लिट्‌टी को पकाने की वजह से लोग ज्यादा पसंद कर रहे है। वहीं पार्सल डिमांड भी हर रोज बढ़ती जा रही है। दूर-दराज से लोग पार्सल कराने सेंटरों तक पहुंच रहे है।

बैगन का चाेखा और चटनी भी स्वादिष्ट

बैगन और आलू का चोखा भी लोगों का पसंदीदा बनता जा रहा है। लहसून, अदरक, प्याज, टमाटर और हरी मिर्च की चटनी को भी लोग खूब पसंद कर रहे है। उसमें धनिया, नींबू को भी मिलाया जाता है। इसलिए चटनी बेहद स्वादिष्ट हो जाता है। ऐसे में चटनी की डिमांड सबसे ज्यादा बढ़ रही है।

शहर के बड़े होटलों में भी शुरू हुई लिट्‌टी चोखे की मांग

लिट्‌टी को आटा में बनाया जाता है। इसमें जो मसाला डाला जाता है, वे बेहद ही अलग तरीके का होता है। इसमें सत्तू से लेकर अजवाइन तक मिलाया जाता है। साथ ही बारिक प्याज मिक्स किया जाता है। इससे लिट्‌टी का डिश भी खास बन जाता है। जिसे भट्‌ठी में पकाने के बाद घी में मिलाया जाता है। इसके बाद उसके स्वाद और भी स्वादिष्ट हो जाते है।