Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» IVF टेक्निक से मां बनना आसान इसमें सभी प्रोसेस होती हैं नेचुरल

IVF टेक्निक से मां बनना आसान इसमें सभी प्रोसेस होती हैं नेचुरल

बच्चा न होने की वजह से परेशान कपल्स या किसी भी हेल्थ इश्यूज से जूझ रहीं महिलाओं के लिए दैनिक भास्कर और पहलाजानी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:45 AM IST

IVF टेक्निक से मां बनना आसान इसमें सभी प्रोसेस होती हैं नेचुरल
बच्चा न होने की वजह से परेशान कपल्स या किसी भी हेल्थ इश्यूज से जूझ रहीं महिलाओं के लिए दैनिक भास्कर और पहलाजानी टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर की ओर से हेल्थ अवेयरनेस कैंंपेन "उम्मीद खुशियों की' शुरू किया गया है।

सिटी भास्कर से खास बातचीत में डॉ. नीरज पहलाजानी ने बताया कि महिलाओं में फैलोपियन ट्यूब होता है, जो गर्भधारण करने के लिए एग और स्पर्म को मिलाकर ओवरी तक पहुंचाता है। इस प्रोसेस को लगभग दो से तीन हफ्ते का समय लगता है। एग और स्पर्म को मां के गर्भ में विकसित करने की बजाय लेबोरेटरी में विकसित करने की प्रोसेस ही इन विट्रो फर्टिलाइजेशन यानी आईवीएफ कहलाती है। इस तरह तैयार भ्रूण को फाइन प्लास्टिक ट्यूब के जरिए महिला के गर्भाशय में प्रतिरोपित किया जाता है। इनमें स्टैंडर आईवीएफ, इक्सी और इस्सी पद्धति टेक्निक है। इन नई टेक्निक के कारण अब गर्भधारण करना सरल और आसान हो गया है। ये सारी प्रोसेस नेचुरल तरीके से होती है, जिनसे हेल्दी बच्चे का जन्म होता है। आईवीएफ टेक्निक एक प्रजनन उपचार है। जो दंपति संतान जन्म करने में असमर्थ हंै, उनके लिए इस ट्रीटमेंट के जरिए ट्रीटमेंट किया जाता है। इसमें महिला के एग को पुरुष के स्पर्म से मिलाना और फिर गर्भ में स्थापित करना, सबकुछ नेचुरल तरीके से किया जाता है। इनमें न तो किसी तरह के ऑपरेशन की जरूरत होती है और न ही हॉस्पिटलाइज होने की। गर्भधारण के बाद महिलाएं घर के काम-काज भी कर सकती हैं और वर्किंग वुमंस भी ऑफिस वर्क कर सकती हैं। इनमें बेड रेस्ट जैसा कुछ नहीं होता, तब तक जब तक सारी चीजें नॉर्मल हो।

करवा सकते हैं फ्री चेकअप : 5 अप्रैल तक चलने वाले हेल्थ अवेयरनेस कैंपेन ‘उम्मीद खुशियों की’ के तहत फ्री चेकअप भी किया जा रहा है। कोई भी महिला, पुरुष शंकर नगर स्थित पहलाजानी टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर में सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक फ्री चेकअप करवा सकते हैं। महिलाओं से जुड़ी हर तरह की प्राॅब्लम के साथ इनफर्टिलिटी का चेकअप फ्री किया जा रहा है। ट्रीटमेंट के दौरान टेस्ट और लेप्रोस्कोपिक सर्जरी पर मरीजों को खास डिस्काउंट भी दिया जा रहा है।

हेल्थ अवेयरनेस कैंंपेन "उम्मीद खुशियों की' के तहत डॉ. नीरज पहलाजानी ने दी अहम जानकारी

डॉ. नीरज पहलाजानी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×