--Advertisement--

स्ट्रीट प्ले से बताई पानी के लिए तरसते इंसान की कहानी

रायपुर | रायपुर स्मार्ट सिटी की ओर से आनंद समाज लाइब्रेरी में ‘जिंदगी पानी के बूंदों से’ विषय पर संगोष्ठी आयोजित...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
स्ट्रीट प्ले से बताई पानी के लिए तरसते इंसान की कहानी
रायपुर | रायपुर स्मार्ट सिटी की ओर से आनंद समाज लाइब्रेरी में ‘जिंदगी पानी के बूंदों से’ विषय पर संगोष्ठी आयोजित की। इससे पहले सुबह मैट्स यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स और टीचर्स ने सेव वाटर के लिए अवेयरनेस रैली निकाली। मरीन ड्राइव में स्टूडेंट्स ने स्ट्रीट प्ले के जरिए मैसेज दिया। नाटक में दिखाया कि पहले इंसान पानी को बर्बाद करता है और अंत में उसी के लिए तरसता है। संगोष्ठी में पर्यावरणविद् कमल अग्रवाल ने कहा कि जीवन एक बार बिना भोजन के चल सकता है, लेकिन पानी के बिना जीवन असंभव है। पानी बचाने के लिए समाज के हर वर्ग को सोचने की जरूरत है। अमिताभ दुबे ने कहा कि एन्वायरमेंट को बचाने ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण करने पर जोर दिया। उन्होंनेे कम होते जंगलों और पेड़-पौधों की कमी से बदलते प्राकृतिक च्रक को बताया। इस मौके पर शरद तिवारी, सुनीता चनसोरिया, शिल्पा नाहर, लाॅयन जेएस ठाकुर, पुरुषोत्तम मिश्रा, मोहन वर्ल्यानी, लक्ष्य सहित अन्य लोग मौजूद थे।

X
स्ट्रीट प्ले से बताई पानी के लिए तरसते इंसान की कहानी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..