--Advertisement--

8 सिंचाई योजनाओं के लिए 52 करोड़ मंजूर

रायपुर | राज्य सरकार ने प्रदेश के विभिन्न जिलों की सिंचाई परियोजनाओं, व्यपवर्तन योजना, सिंचाई तालाब , एनीकट, नहर...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:00 AM IST
रायपुर | राज्य सरकार ने प्रदेश के विभिन्न जिलों की सिंचाई परियोजनाओं, व्यपवर्तन योजना, सिंचाई तालाब , एनीकट, नहर लाइनिंग, नहर रिमॉडलिंग सहित अन्य कार्यों के लिए लगभग 52 करोड़ रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी है। जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने संबंधित अधिकारियों को सभी कार्यों को शुरू करने के लिए जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने के निर्देश दिए हैं। वन भूमि की स्वीकृति के पश्चात इस योजना को शुरू करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। इनमें बेमेतरा जिले देवरबीजा पिकअप के जीर्णोद्धार, नहरों की रिमॉडलिंग और लाइनिंग से संबंधित कार्यों के लिए छह करोड़ 94 लाख मंजूर किए गए हैं।

इन कार्यों के पूर्ण होने से इस पिकअप वियर की रूपांकित सिंचाई क्षमता के अनुरूप 300 हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा मिलेगी। मुंगेली जिले की मनियारी नदी पर कन्सरा एनीकट बनाने के लिए पांच करोड़ 97 लाख रूपए मंजूर किए गए हैं। एनीकट से निस्तारी, भूजल संवर्धन के साथ-साथ किसानों के स्वयं के साधनों से 227 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई है।

रायपुर के राजीव निसदा व्यपवर्तन योजना के दायें हिस्से में डाउन स्ट्रीम फ्लोर में सीसी ब्लॉक, फ्लश बार तथा बायें और दायें हिस्से में डाउन स्ट्रीम की ओर रिटेनिंग वाल तथा पिचिंग कार्य के लिए चार करोड़ 68 लाख रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है। बलरामपुर जिले की सूर्या व्यपवर्तन योजना के लिए तेरह करोड़ 62 लाख 26 हजार रूपए की पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति का आदेश भी जारी किया गया है। इस व्यपवर्तन से लगभग नौ सौ हेक्टेयर रकबे में सिंचाई प्रस्तावित है। नसुकमा बैराज योजना के सर्वे कार्य के लिए 62 लाख रूपए तथा राजनांदगांव जिले में मोंगरा-खरखरा जल आवर्धन योजना के सर्वे कार्य के लिए 85 लाख 35 हजार रूपए की भी प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है। बेमेतरा में शिवनाथ नदी पर मोतिमपुर-बिरोड़ा एनीकट में सौर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए चार करोड़ 46 लाख 54 हजार रूपए मंजूर किए गए हैं। योजना के तहत ड्रिप सिस्टम से लगभग 120 हेक्टेयर में सिंचाई प्रस्तावित है। बस्तर जिले के लोहांडीगुड़ा में मिचनार तालाब योजना के लिए 14 करोड़ 80 लाख रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति के आदेश जारी कर दिए गए हैं।