--Advertisement--

कंटिंजंेसी और वर्कचार्ज अमले को पेंशन में मिलेंगे 7880 रु

आकस्मिकता व कार्यभारित कर्मचारियों के लिए होली पर अच्छी खबर निकल कर आई है। सरकार ने उन्हें अंशदायी पेंशन योजना की...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:05 AM IST
आकस्मिकता व कार्यभारित कर्मचारियों के लिए होली पर अच्छी खबर निकल कर आई है। सरकार ने उन्हें अंशदायी पेंशन योजना की बजाए उससे पहले लागू पेंशन स्कीम का लाभ देने का फैसला किया है। इससे अब उन्हें व उनके परिजनों को लांगटर्म लाभ मिलेगा। ऐसे कर्मचारी जिनकी मृत्यु हो चुकी है उनके परिजन भी लाभ के दायरे में आएंगे। इस वजह से आकस्मिकता व कार्यभारित वाले कर्मचारियों से जिनके खाते में सरकार का अंशदान जमा हो रहा है वह लौटाना होगा। इसकी वसूली उनसे होगी। इसके लिए उनसे एक विशेष फार्म भरवाया जाएगा।

इसमें सबसे अच्छी बात ये है कि इन कर्मचारियों को शासन के नियमित सेवानिवृत्त कर्मचारियों के समान ही सातवें वेतनमान के अनुसार ही भविष्य में पेंशन मिलेगी। अंशदायी पेंशन योजना में इन कर्मचारियों को इसलिए भी नुकसान होता क्योंकि 1988 या उसके बाद से कार्यरत होने के बाद भी इनका नियमितीकरण 2008 में किया गया था। 2008 के पूर्व इनका कोई कटोत्रा नहीं होने के कारण इनके प्रान(पीआरएएन) खाते में बहुत मामूली रकम जमा हुई थी। इसके कारण इनको सेवानिवृत्त होने पर न ही अच्छी रकम मिली न ही पेंशन। ऐसे में इनके परिवार के समक्ष भरण पोषण की भी कोई व्यवस्था नहीं थी। पुरानी पेंशन योजना के अंतर्गत इनको न्यूनतम 7हजार 880 रुपए मासिक पेंशन मिलेगी । ऐसे कर्मचारी जिन्हें पीआरएएन में जमा राशि का भुगतान नहीं किया गया है। उन्हें पेंशन दी जाएगी।





ऐसे कर्मचारियों को नॉन एनपीएस कर्मचारी चिह्नांकित कर एनेक्जर वन में तथा आहरण व वितरण अधिकारी एनेक्जर टू में आवेदन भरकर जिला कोषालय अधिकारी को जमा करने होंगे।

खास बातें