• Home
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • 6 साल में पैसे दोगुने होने का झांसा चिटफंड कंपनी ने पांच करोड़ ठगे दिल्ली में छापा, डीजीएम गिरफ्तार
--Advertisement--

6 साल में पैसे दोगुने होने का झांसा चिटफंड कंपनी ने पांच करोड़ ठगे दिल्ली में छापा, डीजीएम गिरफ्तार

कचहरी चौक स्थित नामदेव प्लॉजा में केएमजे लैंड डेवलपर्स इंडिया कंपनी का दफ्तर खोलकर पांच करोड़ से ज्यादा की ठगी...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:10 AM IST
कचहरी चौक स्थित नामदेव प्लॉजा में केएमजे लैंड डेवलपर्स इंडिया कंपनी का दफ्तर खोलकर पांच करोड़ से ज्यादा की ठगी करने वाला डीजीएम दिल्ली में पकड़ा गया।

कंपनी के छत्तीसगढ़ के जिम्मेदार अधिकारियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों ने छह साल में रकम दोगुनी होने का झांसा देकर लोगों को जाल में फंसाया था। पॉलिसी पूरी होने के बाद कंपनी की ओर से पैसे नहीं लौटाए गए। पॉलिसी लेने वालों ने दबाव डाला तो आरोपियों ने कंपनी का दफ्तर बंद कर नए नाम से दूसरी जगह कंपनी खोल ली। उसके बाद पॉलिसी लेने वालों ने केस दर्ज कराया।

पुलिस ने पारेश्वर देवांगन और अन्य की रिपोर्ट के आधार पर कंपनी के दिल्ली में रहकर काम काज संभालने वाले डीजीएम रमेश कुमार बोध उर्फ राकेश कुमार के अलावा मोतीनगर रायपुर से रेवाराम साहू, देवेंद्र कुमार सिन्हा और शशि सिंह को प्रियदर्शनी नगर से गिरफ्तार किया। पुलिस अफसरों ने बताया कि आरोपियों ने 2008 में कंपनी का दफ्तर यहां खोला था। कंपनी के जिम्मेदारों ने लोगों को झांसा दिया था कि उनकी कंपनी इन्वेस्टमेंट का काम करती है। ये भी बताया गया कि कंपनी ने बेमेतरा में बड़ी जमीन खरीदी है। उसी के जरिये लोगों का पैसा दोगुना होगा।



छह साल का समय पूरा होने के बाद इन्वेस्टमेंट करने वालों ने पैसों के लिए दबाव बनाना शुरू किया। उसके बाद कंपनी ने अचानक अपना दफ्तर बंद कर दिया। पैसे जमा करने वाले दिल्ली स्थित कार्यालय गए। वहां उन्हें आश्वासन दिया गया कि पैसे मिल जाएंगे। इसी आधार पर उन्हें चेक दिए गए। रायपुर में चेक बांउस हो गए। इसी बीच कंपनी ने दफ्तर बंद कर दूसरा कार्यालय नए नाम से खोल लिया। उसके बाद पॉलिसी लेने वाले पुलिस के पास गए।