• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • ट्रेन से रोज आया 8 से 10 टन मावा, नहीं की सैंपलिंग राज्य में मिलावटी मावा खपाने की सर्वाधिक शिकायतें
--Advertisement--

ट्रेन से रोज आया 8 से 10 टन मावा, नहीं की सैंपलिंग राज्य में मिलावटी मावा खपाने की सर्वाधिक शिकायतें

रायपुर

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:15 AM IST
ट्रेन से रोज आया 8 से 10 टन मावा, नहीं की सैंपलिंग राज्य में मिलावटी मावा खपाने की सर्वाधिक शिकायतें
रायपुर
डीबी स्टार की टीम की पड़ताल में खुलासा हुआ है कि प्रदेश में 70 से ज्यादा होटलों में दबिश दी, लेकिन रायपुर में एक भी जगहों से दूध के अलावा कोई भी सैंपल की जांच नहीं की गई। जबकि तमाम मिठाईयों को बनाने के लिए मावे का ज्यादा उपयोग किया जाता है। फिर भी खाद्य विभाग की टीम ने खानापूर्ति के लिए सैंपल लिया। इसी तरह प्रदेश में कुछ ही जगहों से मावे की सैंपलिंग की गई। उन सैंपलों की जांच अभी नहीं की गई है। यानि जिन दुकानों पर कार्रवाई होनी है, वह त्यौहार के बाद की जाएगी। फिलहाल ऑन द स्पॉट जांचकर कार्रवाई नहीं की गई।

होली त्योहार के मद्देनजर ट्रेन के जरिए हर रोज 8 से 10 टन मावा की सप्लाई शहर में हुई, लेकिन रायपुर में सिर्फ 7 दुकानों में ही छापामारी कर खानापूर्ति की गई, जबकि मावे का एक भी सैंपल किसी भी दुकानों से नहीं लिया गया। सिर्फ दूध की सैंपलिंग की गई और ऑन द स्पॉट किसी भी खाद्य सामग्रियों की जांच नहीं हुई।

ऐसे बनता है मिलावटी मावा

नकली मावे में स्टार्च मिलाया जाता है। इसके अलावा कपड़े धोने का डिटर्जेंट पाउडर मिलाने से मावा गाढ़ा हो जाता है। वहीं उसमें आयोडिन और आलू को वजन बढ़ाने के लिए मिलाया जाता है। मावे में दानापन लाने के लिए शकरकंद भी मिक्स कर दिया जाता है। इससे मिठास बनी रहती है आैर वनस्पति घी और तेल का लेप लगाया जाता है, ताकि मावा चमकता रहे।

दूध में पानी की मिलावट

वैसे इस बार दूध की ज्यादातर शिकायतें आई थी। उसमें पानी के अलावा डिटर्जेंट पाउडर मिलाया जाता है। इससे दूध गाढा और सफेद दिखने लग जाता है। ऐसे दूध सबसे ज्यादा हानिकारक होते है। ये सीधे लीवर में दिक्कत पैदा करते है। वहीं दूध में पानी मिलाने से दूध गाढ़ा होने के बजाय पतला हो जाता है। ऐसे में लोगांे के सेहत से खिलवाड़ किया जाता है।

दूध की ही सैंपलिंग हुई

इस बार ज्यादा मात्रा में दूध की सैंपलिंग हुई है। इसकी जांच की जाएगी। इसके बाद उन पर जुर्माना और कार्रवाई की जाएगी। अश्वनी देवांगन, असिस्टेंट कमिश्नर, फूड एंड ड्रग

X
ट्रेन से रोज आया 8 से 10 टन मावा, नहीं की सैंपलिंग राज्य में मिलावटी मावा खपाने की सर्वाधिक शिकायतें
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..