• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Raipur
  • News
  • भर्ती में वानिकी छात्रों को बताया था अपात्र, कोर्ट का आदेश परीक्षा में दें मौका
--Advertisement--

भर्ती में वानिकी छात्रों को बताया था अपात्र, कोर्ट का आदेश-परीक्षा में दें मौका

News - प्रदेश के वानिकी के छात्रों को भी अब वन विभाग के लिए आयोजित होने वाली भर्ती परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा।...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:25 AM IST
भर्ती में वानिकी छात्रों को बताया था अपात्र, कोर्ट का आदेश-परीक्षा में दें मौका
प्रदेश के वानिकी के छात्रों को भी अब वन विभाग के लिए आयोजित होने वाली भर्ती परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा। पीएससी द्वारा ली जा रही वन विभाग भर्ती परीक्षा में इस विषय के अभ्यर्थियों को आवेदन के लिए अपात्र घोषित किया गया था, जिसके बाद हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी। अब हाईकोर्ट ने छात्रों के पक्ष में फैसला करते हुए पीएससी को उन्हें मैनुअली आवेदन लेने के लिए कहा है।

पीएससी ने वन विभाग के 59 पदों की जारी भर्ती में वानिकी विषय के छात्रों को मौका नहीं दिया गया था। इससे हजारों छात्रों को आवेदन करने से वंचित हो गए थे। इसे लेकर भास्कर ने खबर प्रकाशित की थी। शिकायत की पड़ताल में खुलासा हुआ कि देश के दूसरे राज्यों में वन विभाग के पदों के लिए वानिकी विषय की पढ़ाई करने वालों को पात्रता दी जाती है, लेकिन छत्तीसगढ़ में उसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। पीएससी के विज्ञापन में फिजिक्स, केमेस्ट्री आैर मैथ्स के छात्रों को ही इसके लिए पात्र बताया गया है। इसे लेकर कृषि छात्रों को मौका ही नहीं मिल पा रहा है। क्योंकि 12वीं में कृषि की पढ़ाई िकए अधिकांश छात्र वानिकी में स्नातक करते हैं, लेकिन 12 वीं काे आधार बनाया गया है।

पीएससी के भर्ती विज्ञापन में थी खामी

पीएससी के जारी भर्ती विज्ञापन में सहायक वन संरक्षक के 13 और वन क्षेत्रपाल के 46 पद हैं। दोनों ही पदों के लिए शैक्षणिक योग्यता विज्ञान विषय में स्नातक रखी गई है। लेकिन इसमें शैक्षणिक योग्यता की जो पहली शर्त रखी गई है उसमें बारहवीं में फिजिक्स, कैमेस्ट्री आैर बायोलॉजी में से किसी एक विषय में उत्तीर्ण होना जरूरी है।

वेेकेंसी में दूसरी सबसे बड़ी खामी यह है कि इसमें दूसरी जरूरी शैक्षणिक योग्यता में वानिकी स्नातक को महत्व दिया गया है, लेकिन लिखित परीक्षा के दो प्रश्नपत्रों के दूसरे पेपर में वानिकी विषय को सिलेबस में शामिल ही नहीं किया गया है। ऐसे में वानिकी विषय वाले स्नातकों को परीक्षा में लाभ नहीं मिल पाएगा।

X
भर्ती में वानिकी छात्रों को बताया था अपात्र, कोर्ट का आदेश-परीक्षा में दें मौका
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..