Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» 5 दिन में सीखा पंथी नृत्य, परफॉर्मेंस में पिरोया गुरु घासीदास का जीवन

5 दिन में सीखा पंथी नृत्य, परफॉर्मेंस में पिरोया गुरु घासीदास का जीवन

कला दर्पण संस्था की ओर से संस्कृति विभाग स्थित ऑडिटोरियम में पंथी नृत्य कार्यक्रम रखा गया। 20 से 24 फरवरी तक पांच दिन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 03:35 AM IST

5 दिन में सीखा पंथी नृत्य, परफॉर्मेंस में पिरोया गुरु घासीदास का जीवन
कला दर्पण संस्था की ओर से संस्कृति विभाग स्थित ऑडिटोरियम में पंथी नृत्य कार्यक्रम रखा गया। 20 से 24 फरवरी तक पांच दिन पंथी नृत्य सीखने के बाद कलाकारों ने डांस परफॉर्मेंस दी।

मुक्ति अपने हाथ हवे झन जाहू कखरो पास... बाबाजी तोर महिमा अपार... जैसे गीताें पर गुरु घासीदास के जीवन को पेश किया गया। परफार्मेंस के जरिए ये बताया गया कि पंथी का संबंध किसी पंथ से नहीं, बल्कि पक्षी से होता है। इसमें फुदक फुदक कर कलाकार डांस परफार्म करते हैं। गिरौदपुरी के निकट छाता पहाड़ है, वहां गुरु घासीदास अंतरध्यान हुए थे। लोग वहां प्रार्थना और पूजा करते हैं। पंथी करते हैं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्याम बैस रहे। अध्यक्षता प्रगतिशील सतनामी समाज के अध्यक्ष एनएल कोसले और संचालन डॉ अजय सहाय ने किया। प्रस्तुति में सूत्रधार राजू शर्मा व पुष्पांजली शर्मा रहीं। इस मौके पर संत कुमार सोनवानी, ठाकुर लहरे, मोहित टंडन, अमर दास भी मौजूद रहे।

Dance Event

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Raipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 5 दिन में सीखा पंथी नृत्य, परफॉर्मेंस में पिरोया गुरु घासीदास का जीवन
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×